मिल्खा सिंह, ओलंपिक, मानसून … ‘मन की बात’ में यह बोले मोदी

मिल्खा सिंह, ओलंपिक, मानसून … ‘मन की बात’ में यह बोले मोदी

मिल्खा सिंह, ओलंपिक, मानसून … ‘मन की बात’ में यह बोले मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में देशवासियों के साथ कई बातें साझा कीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि जब बात टोक्यो ओलंपिक की हो रही हो, तो भला मिल्खा सिंह जैसे विख्यात एथलीट को कौन भूल सकता है! कुछ दिन पहले ही कोरोना ने उन्हें हमसे छीन लिया। जब वे अस्पताल में थे, तो मुझे उनसे बात करने का अवसर मिला था।

मोदी ने कहा कि जब टैलेंट, डेडिकेशन, डिटरमिनेशन और स्पोर्ट्समैन स्पिरिट एक साथ मिलते हैं, तब जाकर कोई चैंपियन बनता है। टोक्यो जा रहे हमारे ओलंपिक दल में भी कई ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं, जिनका जीवन बहुत प्रेरित करता है।

मोदी ने कहा कि टोक्यो जा रहे हर खिलाड़ी का अपना संघर्ष रहा है, बरसों की मेहनत रही है। वो सिर्फ अपने लिए ही नहीं जा रहे बल्कि देश के लिए जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर आप #चीयर4इंडिया के साथ अपने इन खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दे सकते हैं।

मोदी ने कहा कि कभी-न-कभी, यह विश्व के लिए केस स्टडी का विषय बनेगा कि भारत के गांव के लोगों ने, हमारे वनवासी-आदिवासी भाई-बहनों ने, इस कोरोना काल में, किस तरह अपने सामर्थ्य और सूझबूझ का परिचय दिया।

मोदी ने कहा कि हमारे देश में अब मानसून का सीजन भी आ गया है। बादल जब बरसते हैं तो केवल हमारे लिए ही नहीं बरसते, बल्कि बादल आने वाली पीढ़ियों के लिए भी बरसते हैं। इसलिए मैं जल संरक्षण को देश सेवा का ही एक रूप मानता हूं।

हमारे शास्त्रों में कहा गया है- ‘नास्ति मूलम् अनौषधम्’ अर्थात् पृथ्वी पर ऐसी कोई वनस्पति ही नहीं है जिसमें कोई न कोई औषधीय गुण न हो। हमारे आसपास ऐसे कितने ही पेड़ पौधे होते हैं जिनमें अद्भुत गुण होते हैं, लेकिन कई बार हमें उनके बारे में पता ही नहीं होता।

मोदी ने कहा कि मध्य प्रदेश के सतना के एक साथी हैं रामलोटन कुशवाहा, उन्होंने बहुत ही सराहनीय काम किया है। रामलोटन ने अपने खेत में एक देसी म्यूजियम बनाया है। इस म्यूजिम में उन्होंने सैकड़ों औषधीय पौधों और बीजों का संग्रह किया है।

मोदी ने कहा कि अब से कुछ दिनों बाद एक जुलाई को हम नेशनल डॉक्टर्स डे मनाएंगे। यह दिन देश के महान चिकित्सक और स्टेट्समैन डॉक्टर बीसी राय की जन्म-जयंती को समर्पित है।
कोरोना-काल में डॉक्टरों के योगदान के हम सब आभारी हैं।

मोदी ने कहा कि हमारे देश में कई लोग ऐसे भी हैं जो डॉक्टर्स की मदद के लिए आगे बढ़कर काम करते हैं। श्रीनगर से एक ऐसे ही प्रयास के बारे में मुझे पता चला। यहां डल झील में एक बोट एंबुलेंस सर्विस की शुरुआत की गई।

एक जुलाई को चार्टर्ड अकाउंटेंट्स डे भी मनाया जाता है। अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता लाने के लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट्स बहुत अच्छी और सकारात्मक भूमिका निभा सकते हैं। मैं सभी चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, उनके परिवार के सदस्यों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ... हुब्बली: नेहा की हत्या के आरोपी फैयाज के पिता ने कहा- ऐसी सजा मिलनी चाहिए, ताकि ...
नेहा की अपने पिता के साथ एक तस्वीर। साभार: niranjan.hiremath.75 फेसबुक पेज।
पाकिस्तान में आतंकवादियों ने फ्रंटियर कोर के सैनिक और 2 सरकारी अधिकारियों की हत्या की
उच्च न्यायालय ने बीएच सीरीज वाहन पंजीकरण पर नई शर्तें लगाने वाले परिपत्र को रद्द किया
राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना
बेंगलूरु में बोले मोदी- कांग्रेस ने टैक्स सिटी को टैंकर सिटी बना दिया
भाजपा के 'न्यू इंडिया' में असहमति की आवाजें खामोश कर दी जाती हैं: प्रियंका वाड्रा
कांग्रेस एक ऐसी बेल, जिसकी अपनी न कोई जड़ और न जमीन है: मोदी