अनुच्छेद-370 हटाने के साथ कश्मीर में शुरू हुई शांति के लिए निर्णायक लड़ाई: शाह

अनुच्छेद-370 हटाने के साथ कश्मीर में शुरू हुई शांति के लिए निर्णायक लड़ाई: शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

गुरुग्राम/भाषा। गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि अनुच्छेद-370 के अधिकतर प्रावधान खत्म किए जाने के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान द्वारा कई वर्षों से परोक्ष रूप से जारी युद्ध और आतंकवादी कृत्यों को खत्म करने की ‘निर्णायक लड़ाई’ शुरू की है।

साथ ही उन्होंने कहा कि इस कदम से जम्मू-कश्मीर में सर्वकालिक शांति स्थापित होगी। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 35वें स्थापना दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने का हाल ही में लिया गया निर्णय कश्मीर घाटी से पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को पूरी तरह मिटाने में मदद करेगा।

उन्होंने कहा कि सरकार आतंकवाद को बिल्कुल बर्दाश्त नही करने की नीति पर अडिग है और इस लक्ष्य को हासिल करने में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड की एक महत्वपूर्ण भूमिका है।

मानेसर में एनएसजी के गढ़ में शाह ने कहा, मेरा मानना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अनुच्छेद-370 के अधिकतर प्रावधान हटाने के साथ हमने अपने पड़ोसी (पाकिस्तान) द्वारा कई वर्षों से परोक्ष रूप से जारी युद्ध और आतंकवादी कृत्यों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई शुरू की है। इससे कश्मीर और क्षेत्र में सर्वकालिक शांति भी सुनिश्चित होगी।

उन्होंने कहा कि आतंकवाद किसी भी सभ्य समाज के लिए अभिशाप और विकास में बाधा है। शाह ने कहा, इसलिए हमारी सरकार आतंकवाद को बिल्कुल बर्दाश्त नही करने की नीति पर अडिग है। बता दें कि एनएसजी का गठन 1984 में किया गया था, जो एक संघीय आतंकवाद निरोधी दस्ता है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News