उच्चतम न्यायालय में मुस्लिम पक्षकार के वकील ने राम के जन्मस्थल को दर्शाने वाला नक्शा फाड़ा

उच्चतम न्यायालय में मुस्लिम पक्षकार के वकील ने राम के जन्मस्थल को दर्शाने वाला नक्शा फाड़ा

अदालत.. प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली/भाषा। संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में उच्चतम न्यायालय में मुस्लिम पक्षकारों की ओर से बहस करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन ने बुधवार को संविधान पीठ के समक्ष भगवान राम के सही जन्मस्थल को दर्शाने वाला सचित्र नक्शा फाड़ दिया।

अखिल भारतीय हिन्दू महासभा की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह द्वारा अयोध्या में विवादित स्थल पर भगवान राम के जन्म स्थल को दर्शाने वाले नक्शे का हवाला दिए जाने पर राजीव धवन ने आपत्ति की थी। इस पर धवन ने पीठ से पूछा कि उन्हें इसका क्या करना चाहिए, पीठ ने कहा कि वह इसके टुकड़े कर सकते हैं।

इस पर राजीव धवन ने न्यायालय कक्ष में अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के अधिवक्ता द्वारा उपलब्ध कराया गया सचित्र नक्शा फाड़ दिया। विकास सिंह ने बहस के दौरान इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के विभन्न बिन्दुओं का उल्लेख किया और कहा कि भगवान राम के जन्म स्थान की पवित्रता के प्रति हिन्दुओं में आदि काल से गहरी आस्था और विश्वास बना हुआ है।

धवन ने पूर्व आईपीएस अधिकारी किशोर कुनाल द्वारा लिखित एक पुस्तक का हवाला देने के विकास सिंह के प्रयास का विरोध किया और कहा कि इस तरह के प्रयास की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। पीठ ने इसके बाद सिंह को अपनी दलीलें जारी रखने के लिए कहते हुए टिप्पणी की, ‘धवनजी, हमने आपकी आपत्ति का संज्ञान ले लिया है।’

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

क्राइस्टचर्च: कॉमनवेल्थ कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में सेजल के दमदार प्रदर्शन के साथ भारत ने जीता रजत पदक क्राइस्टचर्च: कॉमनवेल्थ कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में सेजल के दमदार प्रदर्शन के साथ भारत ने जीता रजत पदक
उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिलने के लिए आभार व्यक्त किया है
तटीय कर्नाटक में रेलवे विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी: केंद्रीय मंत्री सोमन्ना
ट्रंप पर हमले में ईरान का हाथ? जनरल सुलेमानी की हत्या होने के बाद खाई थी यह कसम!
कर्नाटक: वाल्मीकि निगम घोटाला मामले में ईडी ने पूर्व मंत्री नागेंद्र की पत्नी से पूछताछ की
बांग्लादेश में लगी आरक्षण आंदोलन की आग, झड़पों में कई लोगों की मौत
कई नेताओं ने छोड़ी अजित पवार की राकांपा, सु​प्रिया बोलीं- 'लोग बड़ी उम्मीदों से देख रहे'
कर्नाटक ने निजी क्षेत्र में कन्नड़ लोगों के लिए 100% कोटा अनिवार्य करने वाले विधेयक को मंजूरी दी