उप्र: प्रवासियों के लिए बसों पर सियासत, कांग्रेस विधायक ने अपनी ही पार्टी पर दागे तीखे सवाल

उप्र: प्रवासियों के लिए बसों पर सियासत, कांग्रेस विधायक ने अपनी ही पार्टी पर दागे तीखे सवाल

रायबरेली/दक्षिण भारत। उत्तर प्रदेश में प्रवासी मजदूरों को बसों से गृहराज्य लाने के मुद्दे पर सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस में छिड़े घमासान के बीच अब एक विधायक का अपनी ही पार्टी पर तीखे सवाल दागना चर्चा में है। ये विधायक कांग्रेस से हैं और नाम है अदिति सिंह। बता दें कि अदिति सिंह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र में आने वाले रायबरेली सदर सीट का प्रतिनिधित्व करती हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत? एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 ऑटो रिक्शा व एंबुलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के। ये कैसा क्रूर मजाक है? अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यों नहीं लगाईं?’

अदिति सिंह ने दूसरे ट्वीट में कहा, ‘कोटा में जब उत्तर प्रदेश के हजारों बच्चे फंसे थे, तब कहां थीं ये तथाकथित बसें।’ विधायक ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, ‘तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बॉर्डर तक नहीं छोड़ पाई, तब योगी आदित्यनाथजी ने रातोंरात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया। खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी।’

https://platform.twitter.com/widgets.js

विधायक द्वारा इस ट्वीट में कांग्रेस को आड़े हाथों लेने और उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा के कई मायने निकाले जा रहे हैं। कई यूजर्स ने उनके ‘साहस’ को सराहा कि अपनी पार्टी और उसके नेतृत्व वाली सरकार की आलोचना आसान नहीं होता। ​वहीं, ट्वीट पर टिप्पणी करते हुए कुछ कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जाहिर की। बहरहाल, अदिति सिंह के उक्त ट्वीट खूब चर्चा में हैं और हजारों लोग उन्हें लाइक कर चुके हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News