भाषण में जिन्ना के जिक्र से हुआ विवाद तो शत्रुघ्न ने दी सफाई, बोले- जुबान फिसल गई थी

भाषण में जिन्ना के जिक्र से हुआ विवाद तो शत्रुघ्न ने दी सफाई, बोले- जुबान फिसल गई थी

शत्रुघ्न सिन्हा

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा द्वारा एक चुनावी सभा में जिन्ना का जिक्र किए जाने से विवाद उत्पन्न हो गया। अब सिन्हा ने इस पर सफाई दी और कहा कि वे जिन्ना का नहीं, बल्कि मौलाना आजाद का जिक्र करना चाहते थे।

मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में चुनावी सभा के दौरान सिन्हा कांग्रेस की तारीफ कर रहे थे। उस समय उन्होंने कांग्रेस को जिन्ना की पार्टी बता दिया था। अब शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि उनकी जुबान फिसल गई थी। वे मौलाना आजाद बोलना चाहते थे, लेकिन मोहम्मद अली जिन्ना बोल गए।

टिप्पणी पर स्पष्टीकरण देते हुए सिन्हा ने मीडिया को इसका जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने बताया कि मेरे खिलाफ और कुछ नहीं है, तो कुछ लोग खासकर कुछ टीवी चैनलों ने इसे विवाद की तरह प्रस्तुत किया। सिन्हा ने कहा कि उतनी आसानी से पकड़ में नहीं आने वाला हूं।

क्या उक्त टिप्पणी के लिए अफसोस है? इस पर सिन्हा ने कहा कि वह जुबान फिसलने का मामला था। उसमें अफसोस की क्या बात है? उन्होंने कहा कि नीयत देखो, वह तो अच्छी थी।

बता दें​ कि सिन्हा द्वारा अपने भाषण में जिन्ना का उल्लेख किए जाने के बाद भाजपा ने उनकी आलोचना की थी। भाजपा के दिल्ली प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी ने सिन्हा के सन्दर्भ में कहा, ‘जो लोग जिन्ना पर गर्व कर रहे हैं, वे देश का क्या हाल करेंगे?’

हाल में भाजपा से कांग्रेस में आए शत्रुघ्न सिन्हा यहां भी पार्टी लाइन से अलग बयान देकर अपनी ही पार्टी के नेताओं की उलझन बढ़ा चुके हैं। लखनऊ में सपा के टिकट से पत्नी पूनम सिन्हा के नामांकन के दौरान उन्होंने अखिलेश यादव की खूब तारीफ की जिससे कांग्रेस में ही उनके खिलाफ आवाजें उठने लगीं।

देश-दुनिया की हर ख़बर से जुड़ी जानकारी पाएं FaceBook पर, अभी LIKE करें हमारा पेज.

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया
Photo: DrGParameshwara FB page
तृणकां-कांग्रेस मिलकर घुसपैठियों के कब्जे को कानूनी बनाना चाहती हैं: मोदी
अहमदाबाद: आईएसआईएस के 4 'आतंकवादियों' की गिरफ्तारी के बारे में गुजरात डीजीपी ने दी यह जानकारी
5 महीने चलीं उन फांसियों का रईसी से भी था गहरा संबंध! इजराइली मीडिया ने ​फिर किया जिक्र
ईरानी राष्ट्रपति का निधन, अब कौन संभालेगा मुल्क की बागडोर, कितने दिनों में होगा चुनाव?
बेंगलूरु में रेव पार्टी: केंद्रीय अपराध शाखा ने छापेमारी की तो मिलीं ये चीजें!
ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी