जैसलमेर की पूर्व महारानी लड़ेंगी विधानसभा चुनाव, जानिए किस पार्टी के टिकट की हो रही चर्चा

जैसलमेर की पूर्व महारानी लड़ेंगी विधानसभा चुनाव, जानिए किस पार्टी के टिकट की हो रही चर्चा

जैसलमेर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा से एक दिन पूर्व जैसलमेर की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। जैसलमेर स्थापना दिवस पर पूर्व महारानी राजेश्वरी राज्य लक्ष्मी ने राजपूत समाज के लोगों के साथ बैठक कर चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की और समाज के लोगों ने उनका समर्थन किया। अब उनका चुनाव मैदान में उतरना लगभग तय हो गया है।

वे किस पार्टी से चुनाव लडेंगी, इसका उन्होंने फिलहाल खुलासा नहीं किया है। बीस साल बाद एक बार फिर राजघराने से निकली राजनीति को वापस राजमहल में लाने के प्रयास शुरू हो गए हैं। इस घोषणा के साथ ही जैसलमेर के राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ गई है।

राजनीतिक विशेषज्ञों के अनुसार, पूर्व महारानी के चुनाव लड़ने की इच्छा से दोनों ही पार्टियों में उथल-पुथल शुरू हो गई है। पूर्व महारानी के चुनाव लड़ने से कांग्रेस और भाजपा के कई दावेदारों की टिकट पर खतरा मंडराने लगा है।

जानकारों के अनुसार, पूर्व महारानी यदि किसी भी पार्टी से टिकट की दावेदारी करती हैं तो उन्हें मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी और दोनों ही प्रमुख पार्टियों की ओर से आसानी से टिकट दे दिया जाएगा। पूर्व महारानी यदि कांग्रेस से चुनाव लड़ती हैं तो कांग्रेस के दावेदारों की उम्मीदों पर पानी तो फिरेगा, साथ ही भाजपा के कई दावेदार भी बैकफुट पर चले जाएंगे।

सूत्रों के अनुसार पूर्व महारानी का झुकाव कांग्रेस से चुनाव लड़ने की ओर ज्यादा है। ऐसे में कयास यही लगाए जा रहे हैं कि वे कांग्रेस की उम्मीदवार होंगी। पिछले दिनों इसकी चर्चाएं जोरों पर थीं। ऐनवक्त पर पूर्व महारानी ने चुनाव लड़ने की घोषणा तो कर दी, लेकिन यह तय नहीं किया कि वे किस पार्टी से चुनाव लड़ने की इच्छा रखती हैं।

ये भी पढ़िए:
लो जी, कबूतर और हिरन के बाद अब सनी लियोनी भी बन गईं उत्तर प्रदेश की वोटर! जानिए मामला
अब इस गाने पर जमकर नाचे डब्बू अंकल, सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहा वीडियो
आयुर्वेद की यह अकेली दवा रखती है 20 से ज्यादा बीमारियों को दूर, एक में समाए अनेक फायदे
इस गांव में सदियों पहले सभी लोगों का हुआ था कत्ल, यहां कोई नहीं मनाता रक्षाबंधन

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस