क्या ‘स्वाभिमान सम्मेलन’ से मारवाड़ की राजनीति को प्रभावित कर पाएंगे मानवेंद्र?

क्या ‘स्वाभिमान सम्मेलन’ से मारवाड़ की राजनीति को प्रभावित कर पाएंगे मानवेंद्र?

जोधपुर/दक्षिण भारत। विधानसभा चुनाव निकट आने के साथ मारवाड़ में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। एक तरफ भाजपा ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की गौरव यात्रा को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है, वहीं एक विधायक ऐसा भी है जो गौरव यात्रा को दरकिनार कर अपने स्वाभिमान सम्मेलन की तैयारियों में जुटा है।

यह विधायक है कभी भाजपा के कद्दावर नेता रहे जसवंतसिंह जसोल के पुत्र मानवेन्द्र सिंह। हालांकि शिव से विधायक मानवेन्द्र ने अपने पत्ते अभी खोले नहीं है, लेकिन इतना तय है कि मुख्यमंत्री से नाराज हो वे नई राह चुनेंगे।

मारवाड़ की राजनीति में चल रही यह हलचल पूरे प्रदेश को प्रभावित करेगी। शिव से भाजपा के विधायक मानवेन्द्र सिंह 22 सितम्बर को पचपदरा में स्वाभिमान सम्मेलन का आयोजन करने जा रहे है। इस सम्मेलन में जुटने वाले अपने समर्थकों से सलाह कर वे अपने अगले राजनीतिक कदम की घोषणा करेंगे। फिलहाल उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने को लेकर भी चुप्पी साध रखी है।

इस क्षेत्र में जसवंतसिंह का खासा प्रभाव रहा है। टिकट को लेकर मानवेन्द्र की भाजपा से नाराजगी चल रही है। चूंकि अब विधानसभा चुनाव भी ज्यादा दूर नहीं हैं। ऐसे में मानवेन्द्र का रुख मारवाड़ की राजनीति पर कई प्रभाव डाल सकता है। हालांकि पिछले लोकसभा चुनावों में भाजपा से बगावत के बावजूद चुनाव नतीजों पर खास प्रभाव नहीं पड़ा था। वे भाजपा के पक्ष में आए थे। अब स्वाभिमान सम्मेलन से वे मारवाड़ की राजनीति को कितना प्रभावित कर पाएंगे, यह वक्त ही बताएगा।

ये भी पढ़िए:
– नदी में बहते मिले 500 और 1000 रु. के पुराने नोट, पाने के लिए लोगों ने लगा दी छलांग
– एक दिन में महिलाएं खुद को इतनी बार निहारती हैं आईने में!
– ये हैं कश्मीर में दहशत फैलाने वाले टॉप आतंकवादी, एजेंसियों ने जारी की सूची
– लेडीज़ सैंडलों में छुपाकर विदेश से लाई गई ऐसी चीज, एयरपोर्ट अधिकारियों के भी उड़े होश!

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति का निधन हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति का निधन
तेहरान/दक्षिण भारत। ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलीकॉप्टर हादसे में निधन हो गया। तेहरान टाइम्स की एक रिपोर्ट के...
आज लोकसभा चुनाव के 5वें चरण का मतदान, अब तक डाले गए इतने वोट
मंदिर: एक वरदान
उप्र: रैली को बिना संबोधित किए ही लौटे राहुल और अखिलेश, यह थी वजह
कांग्रेस-तृणकां एक ही सिक्के के दो पहलू, बंगाल में एक-दूसरे को गाली, दिल्ली में दोस्ती: मोदी
कांग्रेस-सपा ने अनुच्छेद-370 को 70 साल तक संभाल कर रखा, जिससे आतंकवाद बढ़ा: शाह
मोदी और भाजपा ने 'आप' को कुचलने के लिए ‘ऑपरेशन झाड़ू’ शुरू किया है: केजरीवाल