केरल में कार्यकर्ताओं को जान का डर था, इसके बावजूद पार्टी के लिए काम किया: नड्डा

जेपी नड्डा ने तिरुवनंतपुरम में पार्टी की राज्य कार्यकारिणी बैठक के समापन सत्र को संबोधित किया

केरल में कार्यकर्ताओं को जान का डर था, इसके बावजूद पार्टी के लिए काम किया: नड्डा

Photo: @BJP4India X account

तिरुवनंतपुरम/दक्षिण भारत। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मंगलवार को केरल के तिरुवनंतपुरम में पार्टी की राज्य कार्यकारिणी बैठक के समापन सत्र को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह हमारे समर्पित कार्यकर्ताओं की वजह से है, जिन्होंने एक विचारधारा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है, जिसके कारण 60 वर्षों के बाद पहली बार राजग ने लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री मोदी के गतिशील नेतृत्व में सरकार बनाई है। 

नड्डा ने कहा कि ओडिशा विधानसभा चुनाव में भाजपा ने राज्य में अपनी सरकार बनाई। 147 सीटों में से 78 सीटें भाजपा ने जीतीं। इसके अलावा लोकसभा में भी हमने 20 सीटें जीतीं। आंध्र प्रदेश में राजग ने चुनावों में क्लीन स्वीप किया। कुछ लोग दावा करते हैं कि भाजपा एक उत्तर भारतीय पार्टी है। हालांकि, अब हम एक अखिल भारतीय पार्टी हैं, जिसमें भारत का दक्षिणी हिस्सा भी शामिल है।

नड्डा ने कहा कि कर्नाटक में भी भाजपा और राजग ने लोकसभा चुनावों में क्लीन स्वीप किया। तमिलनाडु में हमारा वोट शेयर 11.4% तक पहुंच गया। वह दिन दूर नहीं जब तमिलनाडु में भी हमारी अच्छी उपस्थिति होगी।

केरल के त्रिशूर में हमने 75,000 वोटों से बढ़त हासिल की और चुनाव जीते। हमारा मानना ​​है कि अट्टिंगल और तिरुवनंतपुरम में हम हारे नहीं हैं, बल्कि जीते हैं। आने वाले समय में हम ये सीटें जीतेंगे।

नड्डा ने कहा कि मैंने केरल में लंबे समय तक काम किया है। मैं पूरे विश्वास के साथ कह सकता हूं कि आप यहां बहुत ही प्रतिकूल परिस्थितियों में काम कर रहे हैं। केरल में कार्यकर्ताओं को अपनी जान का डर था, इसके बावजूद उन्होंने पार्टी के लिए काम किया। इसलिए मैं आपको आपके साहस और दृढ़ निश्चय के लिए बधाई देता हूं।

नड्डा ने कहा कि कांग्रेस 13 राज्यों में एक भी सीट नहीं जीत पाई। कांग्रेस ने अपने वोटों से नहीं, क्षेत्रीय दलों के वोटों से सत्ता हासिल की। कांग्रेस बैसाखी के सहारे चलने वाली पार्टी है। पश्चिम बंगाल में उसे तृणकां का समर्थन नहीं मिला, इसलिए विपक्ष के नेता चुनाव हार गए और कांग्रेस को शून्य मिला।

नड्डा ने कहा कि दुनिया की वृद्धि में भारत का योगदान 15% है। जब मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री थे, तब भारत 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था। लेकिन आज भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। जल्द ही, दो साल में भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

नड्डा ने कहा कि केरल के लिए कर हस्तांतरण के रूप में 1.5 लाख करोड़ रुपए दिए गए। इसके अलावा, अनुदान सहायता के रूप में 1.4 लाख करोड़ रुपए और स्मार्ट शहरों के लिए 1400 करोड़ रुपए दिए गए हैं। रेलवे आवंटन में 7 गुना वृद्धि की गई है। केरल में कुछ मार्गों पर वंदे भारत ट्रेनें शुरू की गई हैं।

नड्डा ने कहा कि केरल की एलडीएफ सरकार सहकारी समितियों के भ्रष्टाचार में शामिल है। इसी तरह, वे सोने के घोटाले में भी शामिल हैं। यह सरकार पूरी तरह से भ्रष्ट है। यूडीएफ सिर्फ़ दिखावटी बातें कर रही है। वह एलडीएफ के खिलाफ़ कोई विरोध नहीं कर रही है। वे एक ही सिक्के के दो पहलू और सहयोगी हैं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News