राहुल गांधी संसद में ऐसे बोलते हैं, जैसे वे विदेशी ताकतों की टूलकिट का हिस्सा हों: तेजस्वी सूर्या

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि वास्तविकता यह है कि हिंदू हमेशा से आक्रामकता के शिकार रहे हैं

राहुल गांधी संसद में ऐसे बोलते हैं, जैसे वे विदेशी ताकतों की टूलकिट का हिस्सा हों: तेजस्वी सूर्या

Photo: surya.tejasvi.ls Fb page

नई दिल्ली/बेंगलूरु/दक्षिण भारत। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा और बेंगलूरु दक्षिण से सांसद तेजस्वी सूर्या सहित पार्टी के नेताओं ने लोकसभा में भाषण के दौरान की गई टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ बुधवार को विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए तेजस्वी सूर्या ने कहा कि राहुल गांधी ने पूरे हिंदू समुदाय का अपमान किया और उसे हिंसक कहा। राहुल गांधी एक आदतन अपराधी हैं, क्योंकि वे बार-बार अपने बयानों से हिंदू समुदाय का अपमान करते हैं।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि 26/11 के आतंकवादी हमलों के बाद राहुल गांधी ने विदेशी राजनयिकों से बात करते हुए 'भगवा आतंकवाद' की बातें कहीं और 'हिंदू आतंकवाद' के लिए हिंदू समुदाय को जिम्मेदार ठहराया था।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि राहुल गांधी संसद में ऐसे बोलते हैं, जैसे वे उन विदेशी ताकतों की टूलकिट का हिस्सा हों, जो भारत और हिंदू समुदाय को बदनाम करना चाहती हैं। जब आप देश का इतिहास देखेंगे तो पाएंगे कि कांग्रेस सबसे ज्यादा हिंसक रही है।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि आज़ादी के बाद 80 प्रतिशत सांप्रदायिक दंगे कांग्रेस सरकार के समय में हुए थे। कांग्रेस और नेहरू-गांधी परिवार सबसे ज़्यादा हिंसक हैं।

इसके बाद तेजस्वी सूर्या ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर बताया कि संसद में हिंदुओं के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने पर विपक्ष के नेता राहुल गांधी के खिलाफ दिल्ली भाजपा के विरोध प्रदर्शन में शामिल हुआ हूं।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि सभी हिंदुओं को हिंसक बताकर उन्होंने पूरे समुदाय का अपमान किया है। यह पहली बार नहीं है, जब राहुल गांधी ने हिंदू समाज पर इस तरह का आरोप लगाया हो। यूपीए सरकार ने पहले भगवा आतंकवाद का झूठा हौवा खड़ा करने की कोशिश की थी। 

उन्होंने कहा कि विकीलीक्स के एक खुलासे से पता चला कि जुलाई 2009 में अमेरिकी राजनयिकों के साथ रात्रिभोज में राहुल गांधी ने कहा था कि कट्टरपंथी हिंदू समूहों का विकास पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से भी बड़ा खतरा है।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि यूपीए के मंत्री पी चिदंबरम और सुशील कुमार शिंदे ने भगवा आतंकवाद की साजिश रची और 26/11 के हमलों को हिंदू समूहों पर थोपने की कोशिश की थी।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि शिंदे ने यह भी दावा किया था कि आरएसएस के शिविर हिंदू आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं, जबकि दिग्विजय सिंह ने साजिश को आगे बढ़ाने के लिए '26/11 आरएसएस की साजिश' नामक पुस्तक जारी की थी।

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि यह हिंदुओं को बदनाम करने और हमें हिंसा के अपराधी के रूप में चित्रित करने की वैश्विक साजिश का हिस्सा है, जबकि वास्तविकता यह है कि हिंदू हमेशा से आक्रामकता के शिकार रहे हैं। राहुल गांधी अपने पूरे करियर में हिंदुओं का मजाक उड़ाते रहे हैं। हम उनसे बिना शर्त माफी की मांग करते हैं। 

बता दें कि इस विरोध प्रदर्शन में सांसद मनोज तिवारी और बांसुरी स्वराज भी शामिल हुए।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News