राजकोट: गेमिंग जोन में आग मामले में अब तक पुलिस ने क्या कार्रवाई की?

मैनेजर नितिन जैन और युवराज सोलंकी को गिरफ्तार कर लिया गया है

राजकोट: गेमिंग जोन में आग मामले में अब तक पुलिस ने क्या कार्रवाई की?

Photo: Rajkot Police Commissioner Office FB page

राजकोट/​दक्षिण भारत। गुजरात के राजकोट में टीआरपी गेमिंग जोन में आग लगने की घटना पर पुलिस आयुक्त राजू भार्गव ने कहा कि छह लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304, 308, 336, 338, 114 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। इनमें से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

उन्होंने बताया कि अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच की टीम काम कर रही है। हमारी कोशिश है कि जल्द से जल्द जांच पूरी कर मामले में चार्जशीट दाखिल की जाए।

पुलिस आयुक्त भार्गव ने कहा कि 27 डीएनए सैंपल भेजे गए हैं। इनकी 36 से 48 घंटे में रिपोर्ट आएगी। अस्थि मज्जा से डीएनए नमूने निकाले गए हैं। 27 शव बरामद हो चुके हैं और कुछ अवशेष भी मिले हैं, इसलिए हमें लगता है कि मृतकों की संख्या 28 के आस—पास होगी।

पुलिस आयुक्त भार्गव ने कहा कि प्रथम दृष्टया एफएसएल अधिकारियों द्वारा की गई जांच और अग्निशमन अधिकारी ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद हमें जो जानकारी दी है, उससे ऐसा लगता है कि वहां कुछ फैब्रिकेशन का काम चल रहा था।  उस फैब्रिकेशन कार्य में वेल्डिंग कार्य के कारण आग लगी होगी। वहां काफी मात्रा में ज्वलनशील पदार्थ मौजूद था, जिसने बहुत तेजी से आग पकड़ी और पूरे गेमिंग जोन में फैल गई।

पुलिस आयुक्त भार्गव ने कहा कि गृह विभाग को स्पेशल पीपी (पब्लिक प्रॉसिक्यूटर) नियुक्त करने का प्रस्ताव भेजा गया है। साथ ही गुजरात सरकार द्वारा गठित एसआईटी टीम अपनी रिपोर्ट देगी और उसके बाद हम आगे की कार्रवाई करेंगे। इसकी जांच की जा रही है कि उनके पास एफआईआर एनओसी थी या नहीं? गिरफ्तार दोनों आरोपियों को कल अदालत में पेश किया जाएगा।

पुलिस आयुक्त भार्गव ने कहा कि मैनेजर नितिन जैन और युवराज सोलंकी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विशेष टीमें काम कर रही हैं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News