हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति का निधन

विदेश मंत्री होसैन अमीर अब्दुल्लाहियन ने भी हादसे में जान गंवाई

हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति का निधन

ईरानी समाचार-पत्र Tehran Times के प्रथम पृष्ठ पर छपा राष्ट्रपति रईसी का चित्र। उसने इस घटना को 'कर्तव्य के मार्ग में बलिदान' बताया है।

तेहरान/दक्षिण भारत। ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलीकॉप्टर हादसे में निधन हो गया। तेहरान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, हेलीकॉप्टर हादसे में राष्ट्रपति रईसी और विदेश मंत्री होसैन अमीर अब्दुल्लाहियन अन्य अधिकारियों के साथ प्रांतीय राजधानी शहर तबरीज़ के रास्ते में अपनी जान गंवा बैठे।

राष्ट्रीय टीवी ने बताया कि ईरानी राष्ट्रपति को ले जा रहे एक हेलीकॉप्टर को रविवार को देश के उत्तर-पश्चिम की यात्रा के दौरान टफ लैंडिंग करनी पड़ी। यह घटना क्षेत्र में घने कोहरे के कारण हुई, जिससे बचाव टीमों के लिए स्थितियां कठिन रहीं।

हेलीकॉप्टर सुंगुन नामक तांबे की खदान के करीब दुर्घटनाग्रस्त हो गया। यह ईरान के पूर्वी प्रांत में जोल्फा और वरज़क़ान के बीच स्थित है और तबरेज़ शहर से लगभग 100 किमी दूर है, जो ईरान के सबसे बड़े शहरों में से एक है। 

रविवार दोपहर से 40 अलग-अलग बचाव दल जंगली और पहाड़ी इलाके में भेजे गए थे। खराब मौसम के कारण इस क्षेत्र में केवल जमीनी टीमें ही पहुंच पाईं, क्योंकि हवाई पहुंच संभव नहीं थी। पहाड़ी इलाके और प्राकृतिक बाधाओं ने राष्ट्रपति के दल के साथ संचार को लगभग असंभव बना दिया।

एक ईरानी टेलीविजन रिपोर्टर ने कहा कि जैसे-जैसे अंधेरा और ठंड बढ़ती जा रही थी, इलाके में सड़कें पक्की नहीं होने और बारिश के कारण जमीन कीचड़युक्त होने के कारण घटना स्थल पर आने वाले कर्मचारी कार से यात्रा करने से बच रहे थे।

ईरानी विदेश मंत्री होसैन अमीर अब्दुल्लाहियन, पूर्वी अजरबैजान प्रांत के गवर्नर मालेक रहमती और तबरीज़ अयातुल्ला के शुक्रवार के प्रार्थना नेता मोहम्मद अली आले-हाशेम भी हेलीकॉप्टर में सवार थे।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

जमीन से जुड़ाव जरूरी जमीन से जुड़ाव जरूरी
कम-से-कम अगले लोकसभा चुनाव तक तो इनकी चर्चा जारी रहेगी
'हिंदी के साथ हमारे स्वाभिमान और राष्ट्रीय एकता का जुड़ाव है'
यूक्रेन को मिलेगी राहत? शांतिवार्ता के लिए पुतिन ने रखीं ये शर्तें
बीएचईएल को थर्मल पावर प्लांट के लिए दो बैक-टू-बैक ऑर्डर मिले
जी-7 शिखर सम्मेलन: मैक्रों समेत इन नेताओं से मिले मोदी, कई मुद्दों पर हुई चर्चा
येडियुरप्पा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट पर बोले कुमारस्वामी- पिछले 4 महीनों में पुलिस विभाग क्या कर रहा था?
ऐसा मैसेज आए तो रहें सावधान, यहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर और उसके परिवार ने गंवा दिए 5.14 करोड़ रु.