उप्र: रैली को बिना संबोधित किए ही लौटे राहुल और अखिलेश, यह थी वजह

यह संयुक्त रैली फूलपुर लोकसभा सीट से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे अमरनाथ मौर्य के पक्ष में आयोजित की गई थी

उप्र: रैली को बिना संबोधित किए ही लौटे राहुल और अखिलेश, यह थी वजह

Photo: IndianNationalCongress FB page

प्रयागराज/दक्षिण भारत। कांग्रेस नेता राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को यहां फूलपुर इलाके में एक संयुक्त चुनावी रैली बिना भाषण दिए छोड़ दी, क्योंकि उनके समर्थक बैरिकेड तोड़कर मंच तक पहुंचने की कोशिश कर रहे थे।

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, रैली में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में कांग्रेस और सपा समर्थक कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे थे। जब अखिलेश यादव कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे तो मंच के सामने खड़ी भीड़ बैरिकेड तोड़कर मंच तक पहुंच गई, जिससे 'भगदड़' जैसी स्थिति पैदा हो गई।

सपा और कांग्रेस, दोनों के आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल पर साझा किए गए एक वीडियो क्लिप में मंच पर मौजूद लोगों को समर्थकों से पीछे हटने के लिए कहते हुए सुना जा सकता है।

मंच से की गई अपील का भीड़ पर कोई असर नहीं हुआ। फिर राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने अपने सुरक्षा कर्मचारियों से घिरे रहने के दौरान मंच छोड़ने से पहले कुछ मिनटों तक कुछ चर्चा की।

यह संयुक्त रैली फूलपुर लोकसभा सीट से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे अमरनाथ मौर्य के पक्ष में आयोजित की गई थी।

समाजवादी पार्टी के सूत्रों ने बताया कि हंगामे के बाद सुरक्षा अधिकारियों की सलाह पर अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने रैली को संबोधित नहीं करने का फैसला किया।

बाद में दोनों ने प्रयागराज में एक और चुनावी रैली में भाग लिया। रैली को लेकर न तो सपा और न ही कांग्रेस ने कोई बयान जारी किया है।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय ने कहा, 'मैं वाराणसी में हूं और फूलपुर में रैली के बारे में कोई जानकारी नहीं है।'

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

जमीन से जुड़ाव जरूरी जमीन से जुड़ाव जरूरी
कम-से-कम अगले लोकसभा चुनाव तक तो इनकी चर्चा जारी रहेगी
'हिंदी के साथ हमारे स्वाभिमान और राष्ट्रीय एकता का जुड़ाव है'
यूक्रेन को मिलेगी राहत? शांतिवार्ता के लिए पुतिन ने रखीं ये शर्तें
बीएचईएल को थर्मल पावर प्लांट के लिए दो बैक-टू-बैक ऑर्डर मिले
जी-7 शिखर सम्मेलन: मैक्रों समेत इन नेताओं से मिले मोदी, कई मुद्दों पर हुई चर्चा
येडियुरप्पा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट पर बोले कुमारस्वामी- पिछले 4 महीनों में पुलिस विभाग क्या कर रहा था?
ऐसा मैसेज आए तो रहें सावधान, यहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर और उसके परिवार ने गंवा दिए 5.14 करोड़ रु.