अखिलेश के साथ संयुक्त प्रेसवार्ता में केजरीवाल ने किए ये बड़े दावे

केजरीवाल ने 4 जून को इंडि गठबंधन की सरकार बनने का भी दावा किया

अखिलेश के साथ संयुक्त प्रेसवार्ता में केजरीवाल ने किए ये बड़े दावे

Photo: @AamAadmiParty X account

स्वाति मालीवाल के बारे में पूछा गया सवाल तो प्रेसवार्ता छोड़कर भागे अखिलेश व केजरीवाल

लखनऊ/दक्षिण भारत। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित किया। इस दौरान केजरीवाल ने कई बड़े दावे भी किए।

उन्होंने उत्तर प्रदेश के सभी मतदाताओं से इंडि गठबंधन के उम्मीदवारों को वोट देने की अपील करते हुए कहा कि इस बार नरेंद्र मोदी अपने लिए नहीं, बल्कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के लिए वोट मांग रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि अगर इस बार भाजपा चुनाव जीत जाती है तो ये लोग दो-तीन महीनों में योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री पद से हटा देंगे। उन्होंने दावा किया कि भाजपा की पूरी तैयारी है कि चुनाव जीतकर एससी/एसटी और ओबीसी का आरक्षण पूरी तरह ख़त्म कर दिया जाए।

केजरीवाल ने दावा किया कि 4 जून को इंडि गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि साल 2014 में जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे, तब भाजपा ने एक नियम बनाया था कि पार्टी में जो भी नेता 75 साल का हो जाएगा, उसे रिटायर होना पड़ेगा।

केजरीवाल ने कहा कि अब अगले वर्ष मोदी ख़ुद 75 साल के हो रहे हैं। ऐसे में अब वे अमित शाह को प्रधानमंत्री बनाने की योजना बना रहे हैं। इसके लिए उन्होंने अमित शाह के सामने बाधाएं पैदा करने वाले शिवराज सिंह चौहान, वसुंधरा राजे सिंधिया और मनोहरलाल खट्टर समेत कई नेताओं को हटा दिया है।

केजरीवाल ने कहा कि अब एक ही नेता योगी आदित्यनाथ बचे हैं, जो अमित शाह का कांटा बन सकते हैं। उनको भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद से हटाने की पूरी तैयारी हो चुकी है।

इस दौरान पत्रकारों ने स्वाति मालीवाल को लेकर केजरीवाल से सवाल किए, जिन्हें उन्होंने टालने की कोशिश की। कई पत्रकारों ने इसी संबंध में सवाल पूछा तो केजरीवाल ने कोई जवाब नहीं दिया और वे प्रेसवार्ता वहीं समाप्त कर अखिलेश यादव के साथ चले गए।

सोशल मीडिया पर इस प्रेसवार्ता के वीडियो आने के बाद यूजर्स ने उनसे आबकारी नीति में हुए कथित घोटाले को लेकर भी तीखे सवाल किए।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

जमीन से जुड़ाव जरूरी जमीन से जुड़ाव जरूरी
कम-से-कम अगले लोकसभा चुनाव तक तो इनकी चर्चा जारी रहेगी
'हिंदी के साथ हमारे स्वाभिमान और राष्ट्रीय एकता का जुड़ाव है'
यूक्रेन को मिलेगी राहत? शांतिवार्ता के लिए पुतिन ने रखीं ये शर्तें
बीएचईएल को थर्मल पावर प्लांट के लिए दो बैक-टू-बैक ऑर्डर मिले
जी-7 शिखर सम्मेलन: मैक्रों समेत इन नेताओं से मिले मोदी, कई मुद्दों पर हुई चर्चा
येडियुरप्पा के खिलाफ गैर-जमानती वारंट पर बोले कुमारस्वामी- पिछले 4 महीनों में पुलिस विभाग क्या कर रहा था?
ऐसा मैसेज आए तो रहें सावधान, यहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर और उसके परिवार ने गंवा दिए 5.14 करोड़ रु.