कर्म का ऋण चुकाने का पर्याप्त साधन है वर्षीतप: नरेशमुनि

गुरु ज्येष्ठ पुष्कर जैन चेरिटेबल ट्रस्ट ने करवाए शताधिक सामूहिक वर्षीतप पारणे

कर्म का ऋण चुकाने का पर्याप्त साधन है वर्षीतप: नरेशमुनि

शरीर की आवश्यकता है भोजन और आत्मा की आवश्यकता है भजन

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। शहर के कुम्बलगुड़ स्थित तुलसी चेतना केन्द्र में गुरु ज्येष्ठ पुष्कर जैन चेरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में राष्ट्रसंत उपप्रवर्तक श्रीनरेशमुनिजी, शालिभद्रमुनिजी व साध्वीश्री सत्यप्रभाजी, सुशीलकंवरजी, दर्शनप्रभाजी, सुप्रभाश्रीजी, मंगलज्योतिजी, विपुलदर्शनाश्रीजी, आगमश्रीजी और चैतन्यश्रीजी की निश्रा में साधना के शिखर पुरुष गुरु पुष्कर संयम शताब्दी वर्ष व अक्षय तृतीया के मंगल अवसर पर पारणोत्सव एवं श्रमण संघ स्थापना दिन शताधिक सामूहिक वर्षीतप पारणा का आयोजन किया गया| 

इस मौके पर १२० तपस्वियों ने वर्षीतप के पारणे किए| इस पारणोत्सव के मौके पर राष्ट्रसंत उपप्रवर्तक श्रीनरेशमुनिजी ने कहा कि तपस्या कर्म का ऋण चुकाने का पर्याप्त साधन है| तप से शरीर को शुद्ध करने, मन को शुद्ध करने, क्षय को धीमा करने और योग्यता में वृद्धि करने की संभावना है| 

उन्होंने कहा कि शरीर की आवश्यकता है भोजन और आत्मा की आवश्यकता है भजन| शरीर इस जन्म का साथी, आत्मा जन्म जन्म का साथी है| शरीर पांच भूतों से बना और पांच भूतों में विलीन हो जाना है| मुनिश्री ने कहा हमें शरीर का शोषण और आत्मा का पोषण करना है| मुनिश्री कहा तप के माध्यम से हमें सिर्फ तन को नहीं तपाना है अपितु मन को सरल बनाना है| मुनि ने सभी तपाराधिक-तपाराधिकाओं की अनुमोदना की|

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया अंजलि हत्याकांड: कर्नाटक के गृह मंत्री ने परिवार को इन्साफ मिलने का भरोसा दिलाया
Photo: DrGParameshwara FB page
तृणकां-कांग्रेस मिलकर घुसपैठियों के कब्जे को कानूनी बनाना चाहती हैं: मोदी
अहमदाबाद: आईएसआईएस के 4 'आतंकवादियों' की गिरफ्तारी के बारे में गुजरात डीजीपी ने दी यह जानकारी
5 महीने चलीं उन फांसियों का रईसी से भी था गहरा संबंध! इजराइली मीडिया ने ​फिर किया जिक्र
ईरानी राष्ट्रपति का निधन, अब कौन संभालेगा मुल्क की बागडोर, कितने दिनों में होगा चुनाव?
बेंगलूरु में रेव पार्टी: केंद्रीय अपराध शाखा ने छापेमारी की तो मिलीं ये चीजें!
ओडिशा को विकास की रफ्तार चाहिए, यह बीजद की ढीली-ढाली नीतियों वाली सरकार नहीं दे सकती: मोदी