'विरासत टैक्स' के बाद सैम पित्रोदा के बयान से शुरू हुआ एक और विवाद!

पित्रोदा ने साक्षात्कार में कहा कि हम भारत जैसे विविधतापूर्ण देश को एकसाथ रख सकते हैं ...

'विरासत टैक्स' के बाद सैम पित्रोदा के बयान से शुरू हुआ एक और विवाद!

Photo: sampitroda FB page

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने 'विरासत टैक्स' के बाद एक और बयान देकर नया विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने भारत की 'विविधता' का जिक्र करते हुए ऐसी समानता स्थापित करने करने की कोशिश की, जिसके बाद कांग्रेस नेताओं के लिए उनका बचाव करना मुश्किल हो रहा है।

उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि भारत दुनिया में लोकतंत्र का एक चमकदार उदाहरण है। देश के लोग 75 वर्षों से बहुत खुशहाल माहौल में रह रहे हैं। वे यहां-वहां के कुछ झगड़ों को छोड़कर एकसाथ रह सकते हैं।

पित्रोदा ने उस साक्षात्कार में कहा कि हम भारत जैसे विविधतापूर्ण देश को एकसाथ रख सकते हैं, जहां पूर्व के लोग चीनी जैसे दिखते हैं, पश्चिम के लोग अरब जैसे दिखते हैं, उत्तर के लोग गोरे जैसे दिखते हैं और शायद दक्षिण के लोग अफ़्रीकी जैसे दिखते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि भारत के लोग विभिन्न भाषाओं, धर्म, भोजन और रीति-रिवाजों का सम्मान करते हैं, जो अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग होते हैं।

उन्होंने कहा, 'यह वह भारत है, जिसमें मैं विश्वास करता हूं, जहां हर किसी के लिए जगह है और हर कोई थोड़ा-बहुत समझौता करता है।'

बता दें कि इससे पहले पित्रोदा ने अमेरिका में विरासत टैक्स के बारे में बयान दिया था, जिससे यहां बड़ा विवाद खड़ा हो गया था। बाद में कांग्रेस नेताओं ने उनके बयान से असहमति जताई।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List