'इधर बटन दबाया, उधर पैसे गरीबों के खातों में' - पहले की सरकारों में ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता था: मोदी

प्रधानमंत्री ने वंचित वर्गों को ऋण सहायता के लिए राष्ट्रव्यापी आउटरीच कार्यक्रम को संबोधित किया

'इधर बटन दबाया, उधर पैसे गरीबों के खातों में' - पहले की सरकारों में ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता था: मोदी

'आज वंचित वर्ग से जुड़े एक लाख लाभार्थियों के खातों में 720 करोड़ रुपए की सहायता राशि सीधे उनके बैंक अकाउंट में भेजी गई है'

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वंचित वर्गों को ऋण सहायता के लिए राष्ट्रव्यापी आउटरीच कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज दलित, पिछड़े और वंचित समाज के कल्याण की दिशा में देश एक और बड़े अवसर का साक्षी बन रहा है। जब वंचितों को वरीयता की भावना हो, तो कैसे काम होता है, वह इस आयोजन में दिखाई दे रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज वंचित वर्ग से जुड़े एक लाख लाभार्थियों के खातों में 720 करोड़ रुपए की सहायता राशि सीधे उनके बैंक अकाउंट में भेजी गई है। पहले की सरकारों में ऐसा कोई सोच भी नहीं सकता था कि 'इधर बटन दबाया और उधर पैसे गरीबों के बैंक खातों में' पहुंच गए, लेकिन यह मोदी की सरकार है, गरीबों का पैसा सीधे उनके खातों में पहुंचता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं आप सब से अलग नहीं हूं, मैं आप में ही अपना परिवार देखता हूं। इसलिए जब मुझे विपक्ष के लोग गाली देते हैं और कहते हैं कि मोदी का कोई परिवार नहीं है, तो सबसे पहले मुझे आप लोगों की ही याद आती है। मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं, जब आप कहते हैं कि 'मैं हूं मोदी का परिवार'।

प्रधानमंत्री ने कहा कि साल 2014 में हमारी सरकार ने सबका साथ, सबका विकास के विजन के साथ काम करना शुरू किया। जिन लोगों ने सरकार से उम्मीद छोड़ दी थी, सरकार उनके पास पहुंची और देश के विकास में उन्हें भागीदार बनाया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने अपने देश को साल 2047 तक एक विकसित राष्ट्र बनाने का जो लक्ष्य निर्धारित किया है, वह वंचित वर्ग के कल्याण और बेहतरी के बिना हासिल नहीं किया जा सकता है। कांग्रेस सरकारों ने देश के विकास में कभी भी हाशिए पर पड़े लोगों को महत्त्व नहीं दिया। कांग्रेस ने हमेशा उन्हें उनकी बुनियादी जरूरतों से वंचित रखा और लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार में लाखों-करोड़ रुपए के घोटाले किए गए। हमारी सरकार यह पैसा दलित, वंचित के कल्याण और देश के निर्माण के लिए खर्च कर रही है।

आज देश के 80 करोड़ जरूरतमंद लोगों को मिलने वाले मुफ्त राशन का सबसे बड़ा लाभार्थी समाज का वंचित वर्ग ही है। जब हम मुफ्त स्वास्थ्य उपचार की गारंटी देते हैं, तो इसका सबसे अधिक लाभ वंचितों को होता है। पिछले दस वर्षों में मोदी ने वंचितों के लिए करोड़ों घर बनाए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी जब दलित, वंचित समाज की सेवा के लिए कुछ भी करता है तो इंडि गठबंधन वाले चिढ़ जाते हैं। कांग्रेस वाले कभी नहीं चाहते कि दलित, पिछड़ों और आदिवासियों का जीवन आसान बने। वे तो बस आपको तरसा कर रखना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस जानती है कि दलित, वंचित, पिछड़ा और आदिवासी समाज व  इनके युवा अगर आगे आएंगे, तो इनकी परिवारवादी राजनीति बंद हो जाएगी। ये लोग सामाजिक न्याय का नारा देकर समाज को जातियों में तोड़ने का काम करते हैं और साथ ही असली सामाजिक न्याय का विरोध करते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार देश के एससी, एसटी और ओबीसी को मुख्यधारा में लाने की पूरी कोशिश कर रही है। पिछले दस वर्षों में हमने वंचितों को दी जाने वाली सहायता दोगुनी कर दी है। इस वर्ष एससी समुदाय के कल्याण के लिए 1.60 लाख करोड़ रुपए की राशि प्रदान की गई है।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

लगातार 7वां बजट पेश कर इतिहास रचेंगी निर्मला सीतारमण लगातार 7वां बजट पेश कर इतिहास रचेंगी निर्मला सीतारमण
नई दिल्ली/दक्षिण भारत। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मंगलवार को वर्ष 2024-25 के लिए लगातार सातवां बजट पेश करते हुए इतिहास...
सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के लिए बजट, इन आंकड़ों पर रहेगी सबकी नजर
निर्मला सीतारमण फिर टैबलेट के जरिए पेपरलेस बजट पेश करेंगी
पाकिस्तानी गायक राहत फतेह अली खान दुबई हवाईअड्डे से गिरफ्तार!
सरकार ने पीएम-सूर्य घर योजना के तहत डिस्कॉम को 4,950 करोड़ रु. के प्रोत्साहन के लिए दिशा-निर्देश जारी किए
किसान को मॉल में प्रवेश न देने की घटना के बाद दिशा-निर्देश जारी करेगी कर्नाटक सरकार
भोजनालयों पर नेम प्लेट मामले में उच्चतम न्यायालय ने इन राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी किया