इंडि गठबंधन में पार्टियों के बीच 'खींचतान' पर क्या बोले शरद पवार?

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे कुछ राज्यों में कुछ विपक्षी गठबंधन दलों के बीच मतभेद हैं

इंडि गठबंधन में पार्टियों के बीच 'खींचतान' पर क्या बोले शरद पवार?

Photo: @PawarSpeaks FB page

पुणे/दक्षिण भारत। राज्यसभा सांसद शरद पवार ने बुधवार को कहा कि कुछ राज्यों में सीट-बंटवारे सहित विभिन्न मुद्दों पर इंडि गठबंधन में मतभेद हैं, जिन्हें वरिष्ठ नेता सुलझाने की कोशिश करेंगे।

कोल्हापुर में पत्रकारों से बात करते हुए, शरद पवार ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनावों में सत्तारूढ़ भाजपा से मुकाबला करने के लिए कई विपक्षी दलों द्वारा गठित इंडि गठबंधन की बैठक हाल ही में नहीं बुलाई गई है।

उन्होंने कहा कि पहले यह फैसला लिया गया था कि विपक्षी गुट की सभी पार्टियां मिलकर काम करेंगी।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल जैसे कुछ राज्यों में कुछ विपक्षी गठबंधन दलों के बीच मतभेद हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सीट बंटवारे के फॉर्मूले पर आम सहमति का अभाव है। दूसरा राज्य पश्चिम बंगाल है, जहां कुछ और समस्याएं हैं और इसका कारण यह है कि तृणमूल कांग्रेस, सीपीआई (एम) और कांग्रेस जैसी कुछ पार्टियां पारंपरिक रूप से एक-दूसरे की विरोधी हैं।

एनसीपी-शरदचंद्र पवार पार्टी प्रमुख ने कहा, ऐसे मुद्दों को अब तक नहीं संभाला गया है।

उन्होंने कहा कि हमारी रणनीति यह है कि जहां भी यह संभव है, हम मुद्दों को संबोधित कर रहे हैं, और जहां भी मतभेद हैं, जैसे कि जिन राज्यों का मैंने उल्लेख किया है, वरिष्ठ नेता, विशेष रूप से उस राज्य के बाहर से, बैठेंगे और इन मुद्दों को संबोधित करेंगे और यह प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

इजराइल से तनातनी के बीच पाकिस्तान गए ईरानी राष्ट्रपति इजराइल से तनातनी के बीच पाकिस्तान गए ईरानी राष्ट्रपति
इस्लामाबाद/दक्षिण भारत। ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर सोमवार को पाकिस्तान पहुंचे। इस पड़ोसी देश में 8...
ममता सरकार को बड़ा झटका, एसएलएसटी की चयन प्रक्रिया को उच्च न्यायालय ने अमान्य घोषित किया
गाजीपुर लैंडफिल में आग 'आप' के 'भ्रष्टाचार' का उदाहरण: दिल्ली भाजपा अध्यक्ष
केंद्रीय मंत्री शोभा करंदलाजे क्या अपनी सीट आसानी से निकाल लेंगी?
यह उदासीनता क्यों?
हुब्बली में नड्डा की हुंकार- खोखले नारों का सहारा नहीं लेते, मोदी की गारंटी पर है लोगों का विश्वास
हुब्बली: नेहा की हत्या के विरोध में मुस्लिम संगठनों ने किया बंद का आह्वान