7 जनवरी के चुनाव ने बांग्लादेश में 'लोकतंत्र और लोगों के मताधिकार' को सुनिश्चित किया: शेख हसीना

उन्होंने कहा, 'सरकार लोगों के वोट देने के अधिकार को सुनिश्चित करने में सक्षम रही है'

7 जनवरी के चुनाव ने बांग्लादेश में 'लोकतंत्र और लोगों के मताधिकार' को सुनिश्चित किया: शेख हसीना

Photo: @awamileague.1949 FB page

ढाका/दक्षिण भारत। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मंगलवार को कहा कि हालिया आम चुनाव में उनकी अवामी लीग पार्टी की पूर्ण जीत 'बांग्लादेश, उसके लोगों और लोकतंत्र और विकास की निरंतरता' की जीत थी।

प्रमुख विपक्षी दल, बांग्लादेश नेशनल पार्टी (बीएनपी) के बहिष्कार के बीच हसीना के नेतृत्व वाली अवामी लीग (एएल) ने 7 जनवरी को हुए चुनावों में शानदार जीत हासिल की।

बांग्लादेशी प्रधानमंत्री 12वें संसदीय चुनाव में अपनी पार्टी की लगातार चौथी जीत पर बधाई देने के लिए यहां अपने आधिकारिक आवास 'गणभवन' में एकत्र हुए दुनिया भर से कई सौ प्रवासी एएल नेताओं को संबोधित कर रही थीं।

76 वर्षीया नेत्री ने कहा, अवामी लीग की पूर्ण जीत 'बांग्लादेश, उसके लोगों और लोकतंत्र और विकास की निरंतरता' की जीत थी, और कहा, उनकी सरकार लोगों के वोट देने के अधिकार को सुनिश्चित करने में सक्षम रही है।'

उन्होंने कहा कि हमने लोगों का संवैधानिक अधिकार सुनिश्चित किया है। चुनाव में भाग नहीं लेने के लिए बीएनपी पर कटाक्ष करते हुए, हसीना ने कहा, साल 2008 के चुनाव में, बीएनपी को अपने 20-पार्टी गठबंधन के साथ केवल 30 सीटें मिलीं, जबकि अकेले अवामी लीग को 233 सीटें मिलीं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News