सांगानेर: भाजपा का गढ़, जिसने दिया राजस्थान को नया मुख्यमंत्री

यहां से साल 1993 और 1998 में कांग्रेस जीती थी

सांगानेर: भाजपा का गढ़, जिसने दिया राजस्थान को नया मुख्यमंत्री

साल 2018 के विधानसभा चुनाव में यहां से भाजपा के अशोक लाहोटी जीते थे

जयपुर/दक्षिण भारत। राजस्थान की सांगानेर विधानसभा सीट भाजपा का गढ़ मानी जाती है। यहां 1980 में सबसे पहले कमल खिला था। हालांकि उससे पहले एक बार जनता पार्टी जीत चुकी थी। 

यहां से साल 1993 और 1998 में कांग्रेस जीती थी। साल 2003 में एक बार फिर भाजपा ने बाजी मारी और घनश्याम​ तिवाड़ी विजयी हुए। उन्होंने साल 2013 तक यहां से जीत का सिलसिला बरकरार रखा।

साल 2018 के विधानसभा चुनाव में यहां से भाजपा के अशोक लाहोटी जीते थे। वहीं, साल 2023 के चुनाव में भाजपा ने भजनलाल शर्मा को टिकट दिया, जिन्होंने 48,081 वोटों के अंतर से न केवल यह सीट जीती, बल्कि अब राजस्थान के मुख्यमंत्री भी बनने जा रहे हैं।

इस बार सांगानेर सीट से कुल 16 उम्मीदवार मैदान में थे। यहां भजनलाल शर्मा को 1,45,162 वोट मिले। वहीं, कांग्रेस के पुष्पेंद्र भारद्वाज को 97,081 वोट मिले। आम आदमी पार्टी भी खास कमाल नहीं दिखा पाई। उसके उम्मीदवार अमित दाधीच को सिर्फ 1,426 वोट मिले हैं।

इनके अलावा बाकी कोई उम्मीदवार 1,000 वोटों का आंकड़ा भी नहीं छू सका। सांगानेर सीट से सबसे कम वोट राष्ट्रीय जनता सेना के रोहिताश यादव को (52) मिले हैं। इसके अलावा 1,296 मतदाताओं ने नोटा पर भरोसा जताया।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News