दुर्लभ बीमारी से पीड़ित बच्चे के लिए करोड़ों रु. के इंजेक्शन की जरूरत को लेकर सिद्दरामैया ने मोदी को लिखा पत्र

17.5 करोड़ रुपए है इंजेक्शन की कीमत

दुर्लभ बीमारी से पीड़ित बच्चे के लिए करोड़ों रु. के इंजेक्शन की जरूरत को लेकर सिद्दरामैया ने मोदी को लिखा पत्र

अतिरिक्त आयात कर के चलते वित्तीय बोझ काफी हद तक बढ़ गया है

बेंगलूरु/भाषा। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरामैया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दुर्लभ अनुवांशिक बीमारी से पीड़ित 15 महीने के लड़के के लिए 'जोल्गेन्स्मा' नामक इंजेक्शन के आयात पर कर माफ करने और उसे वित्तीय सहायता प्रदान करने का आग्रह किया है, जिसकी कीमत साढ़े 17 करोड़ रुपए है।

मुख्यमंत्री ने इस संबंध में मोदी को पत्र लिखकर बच्चे के इलाज के लिए आवश्यक 17.5 करोड़ रुपए के महंगे इंजेक्शन को खरीदने में परिवार के सामने आने वाली वित्तीय चुनौती का जिक्र किया।

सिद्दरामैया ने पत्र में लिखा, मैं हमारे राज्य के एक छोटे बच्चे से संबंधित एक गंभीर मामले को लेकर संपर्क कर रहा हूं। कर्नाटक का मौर्य नाम का 15 महीने का लड़का स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी (एसएमए) नामक गंभीर समस्या से जूझ रहा है। हमारे चिकित्सा समुदाय ने हमें जोलगेन्स्मा नामक इंजेक्शन के रूप में एक संभावित इलाज के बारे में सूचित किया है।

उन्होंने कहा कि इस इंजेक्शन की कीमत लगभग 17.5 करोड़ रुपए है, जिसके चलते परिवार के लिए इलाज करा पाना एक बड़ी चुनौती है।

सिद्दरामैया ने कहा, दवा की कीमत अपने आप में काफी ज्यादा है, ऐसे में अतिरिक्त आयात कर के चलते वित्तीय बोझ काफी हद तक बढ़ गया है, जिससे इस जीवन रक्षक दवा की खरीद उनके लिए लगभग असंभव है।

सिद्दरामैया ने मोदी से अनुरोध किया कि वह बच्चे के इलाज के लिए आवश्यक जोलगेन्स्मा पर आयात कर माफ करने के लिए वित्त मंत्रालय को निर्देश दें।

सिद्दरामैया ने मोदी से इंजेक्शन की खरीद में सहायता के लिए पीएम केयर्स फंड से वित्तीय सहायता प्रदान करने पर विचार करने का भी अनुरोध किया।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News