रिश्तों का खून: बाप ने सुपारी देकर कराई बेटे की हत्या!

अखिल जैन गुमशुदगी मामले में नया मोड़, पिता भरत जैन गिरफ्तार

रिश्तों का खून: बाप ने सुपारी देकर कराई बेटे की हत्या!

हुब्बली के जौहरी ने क्यों उठाया यह खौफनाक कदम?

हुब्बली/दक्षिण भारत। अखिल जैन (30) गुमशुदगी मामले में चौंकाने वाले राज़ सामने आ रहे हैं। विभिन्न मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि उसके जौहरी पिता भरत जैन ने ही हत्या के लिए भाड़े के हत्यारों को पैसे दिए थे। युवक का शव हुब्बली के पास देवरगुडीहल गांव में भरत जैन के फार्म हाउस से बरामद किया गया है।

पुलिस ने इस वारदात के दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

'लापता' से 'मृतक' तक

बता दें कि कुछ दिन पहले भरत जैन ने पुलिस को शिकायत की थी कि उसका बेटा लापता हो गया है। उसने पुलिस पर यह भी आरोप लगाया कि जांच काफी धीमी है। इसी संबंध में मारवाड़ी समाज के कुछ लोगों ने पुलिस आयुक्त लाभू राम से शिकायत की और अनुरोध किया कि मामले की जांच में तेजी लाई जाए।

ऐसे खुलीं गुत्थियां

छानबीन में जुटी पुलिस ने पाया कि भरत जैन और अखिल जैन के परिचितों के बयानों में मेल नहीं है। इससे पुलिस को संदेह हुआ और उसने इस दिशा में जांच पर ध्यान दिया।

परिजन और परिचितों के बयान के आधार पर पुलिस को महसूस हुआ कि अखिल को परिवार के सदस्य खास पसंद नहीं करते थे।

पुलिस के मुताबिक, आखिरकार भरत जैन ने अपना गुनाह कबूल कर लिया, जिसके बाद उसे रविवार देर रात के घर से गिरफ्तार कर लिया गया।

मामले की जांच केशवापुर थाने के सर्कल इंस्पेक्टर जगदीश हंचिनाल के नेतृत्व में पुलिसकर्मियों की टीम ने की।

जांच आगे बढ़ी तो भूमिका संदिग्ध 

बताया गया है कि भरत जैन हुब्बली का जाना-माना कारोबारी है। कुछ दिन पहले जब अखिल लापता हुआ तो परिजन शिकायत लेकर पुलिस के पास पहुंचे थे। उस समय यह गुमुशुदगी के अन्य मामलों की तरह लग रहा था, लेकिन जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ी, पिता की भूमिका संदिग्ध नजर आने लगी। 

जानकारी के अनुसार, जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि अखिल कई बुरी आदतों का आदी था। इसलिए उसका परिवार नाराज था, जिसके बाद पिता ने उसकी हत्या की सुपारी दे दी।

फोन कॉल से खुलासा

जांच के दौरान पुलिस ने परिवार में सभी लोगों के फोन कॉल खंगाले। इससे महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे। यह भी पता चला कि भरत जैन कुछ बदमाशों के संपर्क में था। ये बदमाश कुख्यात सुपारी किलर बताए जा रहे हैं।

आखिरकार पुलिस पूछताछ में भरत टूट गया और उसने कबूला कि उसने भाड़े के बदमाशों को रुपए देकर अपने बेटे की हत्या करवाई थी। अपराध से जुड़े अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की कोशिशें जारी हैं।

'दृश्यम्' कनेक्शन!

घटना की सोशल मीडिया पर चर्चा है, जिसने 2015 में आई हिंदी फिल्म 'दृश्यम्' की यादें ताजा कर दीं। ​फिल्म का मुख्य किरदार खराब चाल-चलन के एक लड़के की हत्या मामले से परिवार को बचाने के लिए कई हथकंडे अपनाता है। वह पुलिस की गिरफ्त में आता है, लेकिन आखिरकार छूटने में कामयाब हो जाता है, क्योंकि शव की बरामदगी नहीं हो पाती। हालांकि अखिल मामले में पिता का पर्दाफाश हो गया है।

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

सेना ने ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में किया यह बड़ा बदलाव सेना ने ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में किया यह बड़ा बदलाव
उम्मीदवारों को शारीरिक रूप से चुस्त-दुरुस्त होने (फिजिकल फिटनेस) संबंधी परीक्षण और मेडिकल जांच से गुजरना होगा
कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा अपने काम के बल पर करेगी सत्ता में वापसी: येडियुरप्पा
मोदी सरकार ने गरीब, आदिवासी और पिछड़ों के हित को हमेशा वरीयता दी: शाह
पाकिस्तान ने विकिपीडिया पर प्रतिबंध लगाया
कर्नाटक में मतदाताओं को रिझाने के लिए बांटे जा रहे प्रेशर कुकर, डिनर सेट!
बिहार: एनआईए की कार्रवाई, पीएफआई के 3 संदिग्ध सदस्य गिरफ्तार
भाजपा ने धर्मेंद्र प्रधान को कर्नाटक के लिए पार्टी का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया