बिहार के इस गांव में रातोंरात चोरी हो गई सड़क!

2 किमी लंबी सड़क ग्रामीणों के आवाजाही का रास्ता थी

बिहार के इस गांव में रातोंरात चोरी हो गई सड़क!

घटना की जांच करेगा प्रशासन

पटना/दक्षिण भारत। आपने रुपए, गहने, दस्तावेज और सामान की चोरी के बारे में तो बहुत सुना होगा, लेकिन बिहार के एक गांव में सड़क ही चोरी हो गई! जी हां, वह भी दो किमी लंबी। जानकर कुछ अजीब लग सकता है, लेकिन ख़बर सही है। 

दरअसल बांका जिले के रजौन प्रखंड के खरौनी गांव में दो किमी लंबी सड़क थी, जिसका इस्तेमाल ग्रामीण आवाजाही के लिए करते थे। एक दिन सुबह वे जैसे ही घर से निकले कि सड़क गायब मिली! 

पहले तो उन्हें लगा कि वे ग़लत जगह आ गए हैं। चूंकि कल तक यहां पक्की सड़की थी और अब खेत नजर आ रहा था, जिसमें फसल बो दी गई थी। मामला सोशल मीडिया में छाया हुआ है।

स्थानीय निवासियों का कहना है कि यह सड़क दो गांवों को जोड़ती है, जिस पर अब दबंगों ने गेहूं की बुवाई कर दी है। जिन लोगों ने कब्जा किया है, वे खरौनी गांव के बताए जा रहे हैं। सड़क गायब होने के बाद अब लोगों को आवाजाही में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बताया गया कि जो कोई इधर से निकलने की कोशिश करता है, उसे दबंग धमकाते हैं और लाठी दिखाकर खदेड़ने की कोशिश करते हैं। घटना से परेशान लोगों ने अंचलाधिकारी मोहम्मद मोइनुद्दीन से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

इसमें बताया गया कि यह खरौनी से खादमपुर गांव जाने के लिए मुख्य सड़क थी, जिस पर अब गेहूं की फसल है। लोग वर्षों से इस रास्ते से आवाजाही कर रहे थे। एक दिन खैरानी गांव के कुछ लोगों ने ट्रैक्टर से फसल बो दी। जब खादमपुर के लोगों ने विरोध किया तो वे झगड़ा करने लगे।

इनका कहना है

अंचलाधिकारी मोहम्मद मोइनुद्दीन ने बताया कि अतिक्रमण का मामला उनके संज्ञान में लाया गया है। इसकी जांच होगी। अगर शिकायत सही पाई गई तो अतिक्रमण हटाया जाएगा और संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

ये भी बने चोरों का निशाना

हाल में बिहार के बेगूसराय में चोरों ने रेल इंजन में लगने वाले कॉपर वायर चुरा लिए थे। इसके बाद रेलवे पुलिस और विजिलेंस टीम ने कार्रवाई कर दो लोगों गिरफ्तार किया। हालांकि इससे पहले यह ख़बर आई थी कि चोरों ने रेल इंजन चुरा लिया था।

इसी साल अप्रैल में बिहार के रोहतास जिले में चोर दिन-दहाड़े 60 फीट लंबा पुल ले उड़े थे। वे इसके लिए जेसीबी, पिकअप वैन, गैस कटर आदि लेकर आए, जिससे लोगों को भ्रम हुआ कि ये सरकारी अधिकारी हैं, लिहाजा उन्होंने मदद भी की। बाद में पता चला कि वे चोर थे।

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

सेना ने ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में किया यह बड़ा बदलाव सेना ने ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में किया यह बड़ा बदलाव
उम्मीदवारों को शारीरिक रूप से चुस्त-दुरुस्त होने (फिजिकल फिटनेस) संबंधी परीक्षण और मेडिकल जांच से गुजरना होगा
कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा अपने काम के बल पर करेगी सत्ता में वापसी: येडियुरप्पा
मोदी सरकार ने गरीब, आदिवासी और पिछड़ों के हित को हमेशा वरीयता दी: शाह
पाकिस्तान ने विकिपीडिया पर प्रतिबंध लगाया
कर्नाटक में मतदाताओं को रिझाने के लिए बांटे जा रहे प्रेशर कुकर, डिनर सेट!
बिहार: एनआईए की कार्रवाई, पीएफआई के 3 संदिग्ध सदस्य गिरफ्तार
भाजपा ने धर्मेंद्र प्रधान को कर्नाटक के लिए पार्टी का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया