टोयोटा किर्लोस्कर के उपाध्यक्ष विक्रम एस किर्लोस्कर का निधन

वे 64 साल के थे

टोयोटा किर्लोस्कर के उपाध्यक्ष विक्रम एस किर्लोस्कर का निधन

उन्हें दिल का दौरा पड़ा था

बेंगलूरु/दक्षिण भारत। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के उपाध्यक्ष विक्रम एस किर्लोस्कर का निधन हो गया। वे 64 साल के थे। उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी साझा की।

उसकी ओर से जारी एक बयान में कहा गया, 'हमें टोयोटा किर्लोस्कर मोटर के उपाध्यक्ष विक्रम एस किर्लोस्कर के 29 नवंबर को असामयिक निधन की सूचना देते हुए अत्यंत दुख हो रहा है।'

कंपनी ने कहा, 'दुख की इस घड़ी में हम सभी से अनुरोध करते हैं कि दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करें।'

उसने बताया कि विक्रम एस किर्लोस्कर के पार्थिव शरीर को बुधवार दोपहर एक बजे बेंगलूरु के हेब्बल शवदाहगृह में श्रद्धांजलि दी जा सकती है।

बता दें कि विक्रम के परिवार में उनकी पत्नी गीतांजलि किर्लोस्कर और बेटी मानसी किर्लोस्कर हैं। विक्रम मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक थे। उन्होंने वर्षों कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया।

विक्रम किर्लोस्कर, किर्लोस्कर समूह की चौथी पीढ़ी के प्रमुख थे। वे किर्लोस्कर सिस्टम्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक थे। वे टोयोटा किर्लोस्कर मोटर प्राइवेट लिमिटेड के उपाध्यक्ष भी थे। वे सार्वजनिक रूप से आखिरी बार 25 नवंबर को मुंबई में नई पीढ़ी की टोयोटा इनोवा हाईक्रॉस के अनावरण कार्यक्रम में देखे गए थे।

कई तरह के वाहनों की बिक्री करने वाली टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) जापान की ऑटो क्षेत्र की दिग्गज कंपनी टोयोटा मोटर और किर्लोस्कर ग्रुप का संयुक्त उद्यम है।

किर्लोस्कर समूह की स्थापना 1888 में लक्ष्मणराव किर्लोस्कर द्वारा की गई थी। इसका मुख्यालय पुणे में है। समूह अधिकांश अफ्रीका, दक्षिण पूर्व एशिया और यूरोप के 70 से अधिक देशों को उत्पाद निर्यात करता है। यह भारत की सबसे बड़ी पंप और वाल्व निर्माता है। समूह की कंपनियों में से एक स्वदेशी अरिहंत परमाणु पनडुब्बी कार्यक्रम के लिए प्रमुख घटक आपूर्तिकर्ता है।

साल 1988 में, भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने किर्लोस्कर समूह की 100वीं वर्षगांठ पर एक स्मारक डाक टिकट जारी किया था।

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

सेना ने ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में किया यह बड़ा बदलाव सेना ने ‘अग्निवीर’ भर्ती प्रक्रिया में किया यह बड़ा बदलाव
उम्मीदवारों को शारीरिक रूप से चुस्त-दुरुस्त होने (फिजिकल फिटनेस) संबंधी परीक्षण और मेडिकल जांच से गुजरना होगा
कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा अपने काम के बल पर करेगी सत्ता में वापसी: येडियुरप्पा
मोदी सरकार ने गरीब, आदिवासी और पिछड़ों के हित को हमेशा वरीयता दी: शाह
पाकिस्तान ने विकिपीडिया पर प्रतिबंध लगाया
कर्नाटक में मतदाताओं को रिझाने के लिए बांटे जा रहे प्रेशर कुकर, डिनर सेट!
बिहार: एनआईए की कार्रवाई, पीएफआई के 3 संदिग्ध सदस्य गिरफ्तार
भाजपा ने धर्मेंद्र प्रधान को कर्नाटक के लिए पार्टी का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया