अफ़ग़ानिस्तान में लौट आया नब्बे का दौर, 19 लोगों को सरेआम लगाए गए कोड़े

तालिबान ने इस्लामी कानून की सख्त व्याख्या पर टिके रहने के इरादे पर जोर दिया है

अफ़ग़ानिस्तान में लौट आया नब्बे का दौर, 19 लोगों को सरेआम लगाए गए कोड़े

तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा कि वे सभी शरिया कानूनों को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं

काबुल/दक्षिण भारत। अफ़ग़ानिस्तान के उच्चतम न्यायालय के एक अधिकारी ने रविवार को कहा कि देश के पूर्वोत्तर में व्यभिचार, चोरी और घर से भागने के अपराध में 19 लोगों को कोड़े मारे गए हैं।

बताया गया कि तालिबान ने इस्लामी कानून या शरिया की सख्त व्याख्या पर टिके रहने के इरादे पर जोर दिया है।

अगस्त 2021 में तालिबान के सत्ता पर क़ब्ज़ा करने के बाद से अफ़ग़ानिस्तान में कोड़े मारने की यह पहली आधिकारिक पुष्टि प्रतीत होती है।

1990 के दशक के अंत में अपने पिछले शासन के दौरान, समूह ने तालिबान अदालतों में अपराधों के दोषी लोगों को सार्वजनिक फांसी, कोड़े मारने और पत्थर मारने का काम किया था।

पिछले साल अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़ा करने के बाद, तालिबान ने शुरू में अधिक उदारवादी होने और महिलाओं और अल्पसंख्यकों के अधिकारों की अनुमति देने का वादा किया था। इसके बजाय, उसने छठी कक्षा के बाद लड़कियों की शिक्षा पर प्रतिबंध सहित अधिकारों और स्वतंत्रता को प्रतिबंधित कर दिया है।

गुरुवार को तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा कि वे सभी शरिया कानूनों को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

उच्चतम न्यायालय के एक अधिकारी अब्दुल रहीम रशीद ने कहा कि 11 नवंबर को पूर्वोत्तर ताखर प्रांत के तलोकान शहर में 10 पुरुषों और नौ महिलाओं में से प्रत्येक को 39 बार कोड़े मारे गए।

उन्होंने कहा कि शुक्रवार की नमाज के बाद शहर की मुख्य मस्जिद में बुजुर्गों, विद्वानों और निवासियों की मौजूदगी में सजा दी गई।

रशीद ने उन 19 लोगों के बारे में व्यक्तिगत विवरण नहीं दिया, जैसे कि वे कहां से थे, या कोड़े लगने के बाद उनके साथ क्या हुआ। उन्होंने कहा कि दोषी ठहराए जाने से पहले दो अदालतों द्वारा मामले का मूल्यांकन किया गया था।

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

पाकिस्तान: काबुल जाकर तालिबान का समर्थन करने वाले इमरान के चहेते ले. जनरल का इस्तीफा पाकिस्तान: काबुल जाकर तालिबान का समर्थन करने वाले इमरान के चहेते ले. जनरल का इस्तीफा
अधिकारी अप्रैल 2023 में सेवानिवृत्त होने वाले थे
कांग्रेस-आप पर नड्डा का हमला: ये चकमा देने वाले लोग, 'फसली बटेरों' से सतर्क रहना है
जब 'टुकड़े-टुकड़े' गैंग वाले गाली देते हैं तो यह तय होता है कि प्रधानमंत्री देश को जोड़ रहे हैं: भाजपा
इजराइली फिल्मकार की टिप्पणी को लेकर क्या बोली कांग्रेस?
पुलवामा हमले के मास्टर-माइंड ने संभाली पाक फौज की कमान
‘द कश्मीर फाइल्स’ को ‘भद्दी’ बताने वाले लापिद को इज़राइली राजदूत ने आड़े हाथों लिया
धधकता लावा