‘शोले’ फिल्म में ‘सूरमा भोपाली’ का किरदार निभाने वाले अभिनेता जगदीप का निधन

‘शोले’ फिल्म में ‘सूरमा भोपाली’ का किरदार निभाने वाले अभिनेता जगदीप का निधन

‘शोले’ फिल्म में ‘सूरमा भोपाली’ का किरदार निभाने वाले अभिनेता जगदीप का निधन

सूरमा भोपाली

मुंबई/भाषा। मशहूर हास्य कलाकार-अभिनेता जगदीप का बुधवार को उनके आवास पर निधन हो गया। वे 81 वर्ष के थे। उन्होंने ‘शोले’ फिल्म में ‘सूरमा भोपाली’ के अपने किरदार से लोगों के दिलों पर गहरी छाप छोड़ी।

फिल्मी दुनिया में जगदीप के नाम से मशहूर हुए इस कलाकार का वास्तविक नाम सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी था।परिवार के करीबी मित्र निर्माता महमूद अली ने कहा, ‘उनका बांद्रा के अपने आवास पर रात साढ़े आठ बजे निधन हो गया। वे आयु संबंधी समस्याओं के कारण अस्वस्थ थे।’

उन्होंने बताया कि अभिनेता को बृहस्पतिवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे दक्षिण मुंबई के कब्रिस्तान में दफनाया जाएगा।जगदीप ने वर्ष 1951 में फिल्म ‘अफसाना’ से अपनी सिने यात्रा की शुरुआत की थी, जिसके जरिए दिग्गज फिल्म निर्माता बीआर चोपड़ा ने निर्देशन में कदम रखा था।

उन्हें इस किरदार के लिए तीन रुपए बतौर मेहनताना दिए जाने का वादा किया गया था लेकिन एक डायलॉग के बाद इस राशि को दोगुना कर दिया गया था।

जगदीप ने अभिनय के शुरुआती दिनों में छोटे-बड़े सभी तरह के किरदार अदा किए। अपनी कला से उन्होंने बिमल रॉय जैसे निर्देशकों को भी प्रभावित किया।

जिन्होंने वर्ष 1953 में फिल्म ‘दो बीघा जमीन’ में जगदीप को जूते पॉलिश करने वाले लालू उस्ताद की भूमिका निभाने का मौका दिया।

जगदीप ने करीब 400 फिल्मों में काम किया लेकिन 1975 में आई फिल्म शोले के सूरमा भोपाली के उनके किरदार को प्रशंसक आज भी याद करते हैं। उनका डायलॉग ‘हमारा नाम सूरमा भोपाली ऐसे ही नहीं है’ काफी मशहूर हुआ।

उन्होंने ‘पुराना मंदिर’ नाम की एक भुतहा फिल्म में भी अभिनय किया और ‘अंदाज अपना अपना’ में सलमान खान के पिता का यादगार किरदार निभाया।

अभिनेता अजय देवगन, मनोज बाजपेयी, जॉनी लीवर और निर्देशक हंसल मेहता ने जगदीप को सोशल मीडिया पर याद कर उन्हें श्रद्धाजंलि दी। उनके परिवार में दो बेटे जावेद और नावेद जाफरी हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने संकल्प लिया था कि सिंदरी के इस खाद कारखाने को जरूर शुरू करवाऊंगा
विधानसभा अध्यक्ष के आदेश के खिलाफ ठाकरे गुट की याचिका पर 7 मार्च को सुनवाई करेगा उच्चतम न्यायालय
बांग्लादेश: ढाका की बहुमंजिला इमारत में आग लगने से 45 लोगों की मौत
हिंसा का चक्र कब तक?
उदित राज ने भाजपा पर दलितों, पिछड़ों, महिलाओं और आदिवासियों की अनदेखी का आरोप लगाया
केंद्रीय कैबिनेट ने 75 हजार करोड़ रुपए की रूफटॉप सोलर योजना को मंजूरी दी
मंदिर संबंधी विधेयक कर्नाटक विधानसभा से फिर पारित हुआ