कंगना का गुस्सा नहीं पड़ा ठंडा

कंगना का गुस्सा नहीं पड़ा ठंडा

ग सोचते थे कि कंगना के सिली एक्स की बात ठंडी हो चुकी है लेकिन कंगना का गुस्सा कायम है। कंगना रणावत और ऋतिक रोशन की ल़डाई काफी सुर्खियों में थी। बताया जा रहा है कि उसी दौरान कंगना ने ऋतिक को ‘सिली एक्स’’ कहा था। हाल ही में कंगना रजत शर्मा के शो ‘आप की अदालत’’ का हिस्सा बनी। एक बार फिर से उन्होंने ऋतिक को भरी महफिल में ललकारा है। उन्होंने कहा कि वह ऋतिक को बस एक ही शर्त पर माफ करेंगी जब तक ऋतिक हाथ जो़डकर मुझसे माफी न मांगे। कुछ दिनों पहले कंगना एक इवेंट में पहुंची जहां उनसे एक पोर्टल ने पूछा था कि क्या उन्होंने ऋतिक रोशन की वजह से ‘आशिकी-३’’ को छो़डा था तो उन्होंने कहा, हां, मैंने भी ऐसे रयूमर्स सुने हैं। मुझे नहीं पता की सिली एक्स पार्टनर्स पब्लिसिटी पाने के लिए ऐसी हरकते क्यों करते हैं? मेरे लिए अब वह चैप्टर कब का खत्म हो चुका है और मैं पुरानी बात नहीं दोहराना चाहती।’’ जिस पर ऋतिक ने अभी अपना जवाब कंगना को सुना दिया था। इसके बाद तो जैसे कंगना और ऋतिक के बीच ब्लेम गेम का सिलसिला शुरू हो गया था। थो़डे दिनों तक कंगना और ऋतिक की ल़डाई ने खूब सुर्खियां बटोरी थी और कुछ दिनों तक यह मामला ठंडा भी हो गया था लेकिन लगता है कंगना ने अपने सिली एक्स को आसानी से छो़डने का मन नहीं बनाया है। कंगना ने बताया कि यह सारा मामला ने उन्हें तो़ड दिया था लेकिन वो टूटी नहीं बल्कि इसका डट कर सामना किया।

Google News
Tags:

About The Author

Related Posts

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी बीते 10 वर्षों में जनजातीय समाज, गरीबों, युवाओं, महिलाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता बनाकर काम किया: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने संकल्प लिया था कि सिंदरी के इस खाद कारखाने को जरूर शुरू करवाऊंगा
विधानसभा अध्यक्ष के आदेश के खिलाफ ठाकरे गुट की याचिका पर 7 मार्च को सुनवाई करेगा उच्चतम न्यायालय
बांग्लादेश: ढाका की बहुमंजिला इमारत में आग लगने से 45 लोगों की मौत
हिंसा का चक्र कब तक?
उदित राज ने भाजपा पर दलितों, पिछड़ों, महिलाओं और आदिवासियों की अनदेखी का आरोप लगाया
केंद्रीय कैबिनेट ने 75 हजार करोड़ रुपए की रूफटॉप सोलर योजना को मंजूरी दी
मंदिर संबंधी विधेयक कर्नाटक विधानसभा से फिर पारित हुआ