अभिनेता पुनीत राजकुमार का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

अभिनेता पुनीत राजकुमार का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

पुनीत के पार्थिव शरीर पर लिपटे तिरंगे को मुख्यमंत्री ने उनकी पत्नी अश्विनी रेवंत को सौंपा


बेंगलूरु/भाषा। कन्नड़ फिल्मों के लोकप्रिय अभिनेता पुनीत राजकुमार का रविवार सुबह यहां कांतिराव स्टूडियो में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। दिग्गज अभिनेता डॉ. राजकुमार के पांच बच्चों में सबसे छोटे पुनीत का शुक्रवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। वे 46 वर्ष के थे।

अभिनेता के पार्थिव शरीर की अंतिम यात्रा कांतिराव स्टेडियम से सुबह करीब साढ़े पांच बजे शुरू हुई। उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार शाम से स्टेडियम में रखा हुआ था जहां हजारों प्रशंसकों और शुभचिंतकों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। उनकी अंतिम यात्रा करीब 13 किलोमीटर का सफर तय कर सुबह करीब साढ़े छह बजे अंतिम स्थान स्टूडियो पहुंची। उनका पहले से निर्धारित समय सुबह दस बजे से काफी पहले ही अंतिम संस्कार कर दिया गया।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, सुरक्षा कारणों की वजह से परिवार के सदस्यों की सहमति से पुनीत का अंतिम संस्कार तय समय से पहले ही कर दिया गया। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई, उनके मंत्रिमंडल के कई सहयोगियों, पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा और सिद्दरामैया, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार समेत कई नेता, कई फिल्मी हस्तियां और राजकुमार के परिवार के सदस्यों ने उन्हें अंतिम विदाई थी।

पुनीत को बचपन से ही जानने वाले बोम्मई भावुक हो गए और उन्हें अंतिम संस्कार से पहले पुनीत के माथे को चूमते हुए देखा गया। सुरक्षा कारणों और स्टूडियो में जगह की कमी के कारण चुनिंदा लोगों और परिवार के सदस्यों को ही अंतिम संस्कार में मौजूद रहने की अनुमति दी गयी।

उनका पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस के बैंड ने राष्ट्रगान बजाया और पुलिसकर्मियों ने हवा में तीन गोलियां दागी और इसके बाद सम्मान के तौर पर दो मिनट का मौन रखा गया।

पुनीत के पार्थिव शरीर पर लिपटे तिरंगे को मुख्यमंत्री ने उनकी पत्नी अश्विनी रेवंत को सौंपा। अभिनेता के निधन के बाद राज्य सरकार ने एलान किया था कि उनका अंतिम संस्कार कांतिराव स्टूडियो में डॉ. राजकुमार पुण्यभूमि में किया जाएगा जहां उनके माता-पिता का अंतिम संस्कार किया गया था।

पुनीत के भतीजे और अभिनेता राघवेंद्र राजकुमार के बड़े बेटे विनय राजकुमार ने इदिगा परंपरा के अनुसार उनका अंतिम संस्कार किया। पुनीत की पत्नी अश्विनी रेवंत और बेटियों धृति और वंदिता, उनके बड़े भाई शिवराजकुमार, राघवेंद्र राजकुमार और परिवार के कई सदस्यों ने अपने प्रियजन को अश्रुपूर्ण विदाई दी।

अंतिम संस्कार सुबह-सुबह किए जाने के बावजूद उनके सैकड़ों प्रशंसक स्टूडियो के सामने और शव यात्रा के मार्ग पर एकत्रित हो गए ताकि अपने प्रिय अभिनेता को अंतिम विदाई दे सकें।

देश-दुनिया के समाचार FaceBook पर पढ़ने के लिए हमारा पेज Like कीजिए, Telagram चैनल से जुड़िए

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला बिल गेट्स को प्रतिष्ठित 'केआईएसएस मानवतावादी पुरस्कार' 2023 मिला
भुवनेश्वर/दक्षिण भारत। माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-अध्यक्ष बिल गेट्स को उनके उल्लेखनीय एवं परोपकारी...
केरल में इतनी सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी कांग्रेस!
हिप्र: 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' से शिमला लौटे, 15 भाजपा विधायक निलंबित
पाक समर्थक नारे का आरोप: सिद्दरामैया ने कहा- सच पाए जाने पर होगी कड़ी कार्रवाई
राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले 6 कांग्रेस विधायक 'अज्ञात स्थान' पर गए!
प्रधानमंत्री ने नई परियोजनाओं का उद्घाटन किया, तमिलनाडु में नए इसरो लॉन्च कॉम्प्लेक्स की आधारशिला रखी
समुद्र: रहस्य की अद्भुत दुनिया