महिलाओं को अपने उत्पीड़न के खिलाफ खुद ही करना होगा संघर्ष : नागलक्ष्मी

महिलाओं को अपने उत्पीड़न के खिलाफ खुद ही करना होगा संघर्ष : नागलक्ष्मी

मैसूरु/दक्षिण भारतकर्नाटक राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष नागलक्ष्मी बाई ने महिलाओं का आह्वान किया कि वह अपने साथ होनेवाले उत्पी़डन, शोषण और दुष्कर्म से खुद भी जमकर संघर्ष करें। सरकार अकेले अपने दम पर समाज में महिलाओं के साथ होने वाले अनुचित बर्ताव को रोकने में सक्षम नहीं है। महिलाओं को अपना हक हासिल करने के लिए स्वयं को सशक्त करना होगा। नागलक्ष्मी बाई सोमवार को यहां दशहरा महोत्सव के तहत ’’जनपद सिरि’’ कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद एक समारोह को संबोधित कर रही थीं। जनपद सिरि कार्यक्रम का आयोजन महिला और बल दशहरा उप समिति की ओर से किया जा रहा है। नागलक्ष्मी ने कहा, ’’दिन-ब-दिन महिलाओं और बच्चों के उत्पी़डन की घटनाओं में वृद्धि हो रही है। अगर आपको प्रता़डना और उत्पी़डन की घटनाओं के क़डवे अनुभव से गुजरना प़डे तो कृपया पुलिस में ऐसी घटनाओं की शिकायत जरूर दर्ज करवाएं। महिलाएं सामाजिक सम्मान खोने के भय से अक्सर ऐसे दुर्व्यवहार की शिकायत पुलिस से नहीं करती हैं। अगर वह खुद अपने अधिकार की ल़डाई नहीं ल़डेंगी तो सरकार अकेले इस सामाजिक बुराई को नहीं रोक सकेगी। महिलाओं को समाज में सम्मान दिलाने के लिए विभिन्न संगठनों और पत्रकारों को आगे आना ही होगा। इसके साथ ही महिलाओं को भी अपने साथ होने वाले किसी भी अन्याय को सहने की आदत बदलनी होगी।’’ इस कार्यक्रम के दौरान उच्च शिक्षा और मैसूरु जिला प्रभारी मंत्री जीटी देवेगौ़डा भी उपस्थित थे। जनपद सिरि के उद्घाटन के अवसर पर कई लोक कलाओं की प्रस्तुतियां दी गईं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News