स्टालिन और दूसरे नेता कर रहे विभाजनकारी राजनीति : सौंदरराजन

स्टालिन और दूसरे नेता कर रहे विभाजनकारी राजनीति : सौंदरराजन

वेल्लूर। विश्व हिन्दू परिषद द्वारा निकाली जा रही राम राज्य रथ यात्रा का राज्य की विभिन्न राजनीतिक पार्टियों द्वारा विरोध करने की आलोचना करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष तमिलसै सौंदरराजन ने कहा है कि राज्य की विपक्षी पार्टियों के नेता विशेषकर द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन सहित रथ यात्रा का विरोध करने वाले अन्य नेता राजनीतिक फायदे के लिए ‘सांप्रदायिक घृणा कार्ड’’ खेल रहे हैं।उन्होंने कहा कि स्टालिन और अन्य नेता विभाजनकारी राजनीति कर रहे हैं। मैंने उन्हें यह सब बंद करने के लिए कहा था। उन्होंने कहा कि इस रथ यात्रा का राज्यव्यापी विरोध हिन्दू धर्म के लोगों की भावनाओं और मान्यताओं पर हमला है। उन्होंने कहा कि राम रथ राज्य में उन लोगों के लिए आ रहा है जिन्हें इसमें विश्वास है। उन्होंने विपक्षी पार्टियों के नेताओं पर हमला बोलते हुए कहा कि यदि आपको इसमें विश्वास नहीं है और आप इसे नहीं चाहते तो आप इसका बहिष्कार कर सकते हैं।वाम पार्टियों की राज्य इकाइयों द्वारा राज्य में राम रथ यात्रा के खिलाफ किए जा रहे विरोध का समर्थन करने की आलोचना करते हुए सौंदरराजन ने कहा कि इस रथ यात्रा का केरल में क्यों विरोध नहीं किया गया जबकि केरल में वाम पार्टियों की ही सरकार है? उन्होंने कहा कि यह रथ यात्रा कई राज्यों से शांतिपूर्ण ढंग से गुजरी है लेकिन केवल तमिलनाडु में ही इसका विरोध किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि राज्य में इसी प्रकार से रथ यात्रा का विरोध जारी रहता है तो हम लोग कानून व्यवस्था और सांप्रदायिक सद्भाव को प्रभावित किए बिना शांतिपूर्ण ढंग से इसका विरोध करेंगे।भाजपा नेता ने कहा कि राज्य में भाजपा काफी तेजी के साथ बढ रही है और यह किसी भी समय राज्य में होने वाले स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य राज्य में एक वैकल्पिक पार्टी बनकर उभरना है। उन्होंने कहा कि राज्य के मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य में भाजपा के अलावा कोई भी अन्य पार्टी राज्य की अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) या द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (द्रमुक) का विकल्प नहीं बन सकती है। हमने राज्य भर में बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से मिलने का अभियान शुरु किया है और यह इस बात को बताने के लिए है कि राज्य में हम धीरे-धीरे एक मजबूत पार्टी बन रहे हैं।केन्द्र सरकार द्वारा कावेरी प्रबंधन बोर्ड का गठन करने की दिशा में उठाए जा रहे कदमों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार कावेरी के जल को विनियमित करने के लिए बोर्ड का गठन करने की दिशा मेें समुचित कदम उठा रही है। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय स़डक परिवहन, राजमार्ग,नौवहन एवं जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी, केन्द्रीय जल संसाधन राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल और केन्द्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सार्वजनिक रुप से इस बात की घोषणा की है कि कावेरी प्रबंधन बोर्ड का गठन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस संबंध में संसद में भी एक बयान दिया गया है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?