देश के 10 विरासत स्थलों में श्रवणबेलगोला शामिल

देश के 10 विरासत स्थलों में श्रवणबेलगोला शामिल

हासन। भगवान गोमटेश्वर की विशाल प्रतिमा के कारण विश्व प्रसिद्ध जैन तीर्थ स्थल श्रवणबेलगोला को स्वच्छ भारत मिशन दूसरे चरण के अंतर्गत देश के स्वच्छ आइकॉनिक स्थानों की सूची में शामिल किया गया है। श्रवणबेलगोला को इस सूची में शामिल किए जाने से राज्य सरकार और जैन धर्मावलंबियों में काफी प्रसन्नता है क्योंकि मौजूदा समय में इस स्थान पर १२ वर्ष के अंतराल पर आयोजित होने वाले महामस्तकाभिषेकम की तैयारी जोरों पर है। भगवान गोमटेश्वर की प्रतिमा का महामस्तकाभिषेक अगले वर्ष फरवरी में आयोजित होगा। इस कार्यक्रम पर चर्चा करने के लिए दिल्ली में हाल ही में आयोजित दो दिवसीय परामर्श बैठक में हिस्सा लेकर लौटी उपायुक्त रोहिणी सिंदुरी ने मीडिया को बताया कि उन्होंने इस तीर्थस्थल के विकास के लिए ५० करो़ड रुपए का अनुदान देने की मांग की है।ज्ञातव्य है स्वच्छ भारत अभियान के पहले चरण के तहत केंद्र सरकार ने देश के १० स्थानों का चयन किया था और इन सभी स्थानों पर पर्यटकों को बेहतर सुविधा उपलब्ध करवाने की बात को ध्यान में रखते हुए सीवेज ट्रीटमेंट के लिए आवश्यक ढांचागत सुविधाएं, स्वच्छता सुविधाएं, पानी की वेंडिंग मशीनें, ठोस और तरल अपशिष्ठ प्रबंधन संयंत्र, समुचित रोशनी की व्यवस्था, पार्कों के सौंदर्यीकरण और अन्य बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए आवश्यक कदम उठाए थे। स्वच्छ आईकॉनिक स्थान (एसआईपी) परियोजना के तहत, केंद्र ने १०० धरोहर स्थलों को विकसित करने का फैसला किया है। पहले चरण में १० और दूसरे चरण में १० स्थानों का चयन करने के साथ अभी तक देश के २० स्थानों को इस सूची में शामिल किया गया है। इस परियोजना का लाभ श्रवणबेलगोला को भी मिलेगा। जिन स्थानों का चयन किया गया है उनमें गंगोत्री, यमुनोत्री, उत्तराखंड, महाकालेश्वर मंदिर-मध्य प्रदेश, चारमीनार-हैदराबाद, सेंट फ्रांसिस ऑफ एसिसी-गोवा, कलाडी-केरल, गोमटेश्वर-कर्नाटक, बैजनाथ धाम-झारखंड, गया तीर्थ-बिहार और सोमनाथ मंदिर-गुजरात शामिल हैं। परियोजना के दूसरे चरण में शामिल स्थानों की सूची हाल ही में दिल्ली में पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय द्वारा आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय परामर्श में बैठक में जारी की गई थी।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News