दिनाकरण को जल्द ही जाना होगा ‘मामा के घर’ : पलानीस्वामी

दिनाकरण को जल्द ही जाना होगा ‘मामा के घर’ : पलानीस्वामी

चेन्नई। राज्य की सत्तारुढ अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और पार्टी से निष्काषित किए जा चुके टीटीवी दिनाकरण के बीच गर्मा गर्म बहस का दौर शुरु हो गया है। इसकी शुरुआत पलानीस्वामी के बयान के साथ हुई है। पलानीस्वामी को आम तौर पर एक नरम रवैया वाले नेता के रुप में जाना जाता है और वह तल्ख टिप्पणियां करने से बचते हैं। हालांकि शुक्रवार की रात शहर की एक जनसभा में दिनाकरण पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि दिनाकरण को जल्द ही मामा के घर (जेल) जाना होगा। इसके बाद दिनाकरण ने भी उन पर पलटवार किया है।अभी तक पलानीस्वामी द्वारा शशिकला के परिवार के प्रति इस प्रकार का हमलावर रुख नहीं अपनाया गया था। पलानीस्वामी ने कहा कि शशिकला और उनके परिवार के सदस्यों द्वारा अन्नाद्रमुक और राज्य सरकार पर कब्जा करने की कोशिश को कभी भी सफल नहीं होने दिया जाएगा और अब उनके पार्टी और सरकार में वापस आने के सभी दरवाजे बंद कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि अम्मा (जयललिता) की आत्मा ऐसे किसी भी व्यक्ति को माफ नहीं करेगी जिन्होंने पार्टी के हितों के खिलाफ कार्य किया है। उन्होंने कहा कि दिनाकरण भी नहीं बच पाएंगे। पलानीस्वामी ने एक बार फिर से दोहराया कि उनकी पार्टी अपना कार्यकाल पूरा करेगी। पलानीस्वामी द्वारा दिनाकरण के खिलाफ मामा के घर जाने वाले बयान के बारे में पूछे जाने पर शनिवार को टीटीवी दिनाकरण ने अड्यार स्थित आवास पर पत्रकारों से कहा कि वह कई बार जेल जा चुके हैं और इस बार मामा के घर (जेल) जाने की बारी पलानीस्वामी की है। उन्होंने कहा कि मेरे हाथ साफ हैं और मेरे ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप नहीं हैं। दिनाकरण ने कहा कि पलानीस्वामी को इस बात का डर है कि यदि मैं बाहर रहता हूं तो वह सत्ता में नही आ सकंेंगे इसलिए वह इस बात की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि मुझे जेल की सलाखों के पीछे धकेल दिया जाए लेकिन ऐसा नहीं होगा।दिनाकरण ने कहा कि पलानीस्वामी को किस्मत से मुख्यमंत्री की कुर्सी मिल गई और उन्होंने पार्टी की महासचिव वीके शशिकला के साथ विश्वासघात किया है जिन्होंने उन्हें यह पद दिया। राज्य के वन मंत्री डिंडिगल सी श्रीनिवासन की ओर से लगाए गए आरोप, कि शशिकला परिवार ही राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की मौत के पीछे है, के बारे में पूछे जाने पर दिनाकरण ने कहा कि यदि इस बारे में कोई जांच शुुरु की जाती है तो सबसे पहले राज्य के मंत्रियों से पूछताछ होगी कि वह लोग उस समय क्या कर रहे थे?इसी क्रम में इस बात की भी जानकारी मिल रही है कि दिनाकरण जल्द ही कर्नाटक के कूर्ग जाएंगे जहां पर उनका समर्थन करने वाले विधायक एक रिसोर्ट में ठहरे हुए हैं। दिनाकरण ने कहा कि उनके समर्थक विधायकों को पलानीस्वामी ध़डे की ओर से धमकी दी जा रही है कि वह पाला बदल लें। पाला बदलने के लिए उन्हें पैसे का लालच दिया जा रहा है लेकिन पलानीस्वामी को यह समझना चाहिए कि हर एक व्यक्ति धोखेबाज नहीं होता।इसी क्रम में मंत्री वेल्लामंडी दिनाकरण ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह सच है कि जयललिता की मौत में शशिकला और दिनाकरण का हाथ है। उल्लेखनीय है कि दिनाकरण ने यह धमकी दी है कि वह एक सप्ताह के अंदर राज्य सरकार को गिरा देंगे।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?