दस हजार दृष्टिबाधितों को नि:शुल्क स्मार्ट कैन देगी सरकार

दस हजार दृष्टिबाधितों को नि:शुल्क स्मार्ट कैन देगी सरकार

चेन्नई। मुख्यमंत्री ईडाप्पाडी के पलानीसामी ने गुरुवार को राज्य के १०,००० दृष्टि बाधित दिव्यांग व्यक्तियों को स्मार्ट केन (दृष्टिबाधित लोगों द्वारा उपयोग में लाई जाने वानी आधुनिक छ़डी) देने का आदेश जारी किया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति जारी कर इस बात की जानकारी दी गई है। विज्ञप्ति में बताया गया है कि राज्य के दृष्टिबाधित दिव्यांग व्यक्तियों के लाभ के लिए सरकार ने राज्य के १० हजार ऐसे व्यक्तियों को सफेद स्मार्ट केन देने का आदेश जारी किया है। विज्ञप्ति में बताया गया है कि विभिन्न प्रकार से दिव्यांग के कल्याण के लिए राज्य सरकार के विभाग द्वारा राज्य के दिव्यांग व्यक्तियों के कल्याण के लिए और उनके सर्वांगीण विकास के लिए कई योजनाएं संचालित की जाती हैं। वर्ष २०१६-१७ में दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता ने घोषणा की थी कि राज्य के ५००० दृष्टिबाधित लोगों को स्मार्ट कैन दी जाएगी। कैन में तीन मीटर की दूरी तक स्थित वस्तुओं का पता लगाने के लिए अल्ट्रासोनिक सेंसरों वाला एक उपकरण होता है और यह उपकरण इस छ़डी का उपयोग करने वाले को कंपन के माध्यम से उस वस्तु के होने का संकेत देता है जिससे वह सावधानी पूर्वक चल सकते हैं। मुख्यमंत्री ने स्मार्ट कैन के वितरण के लिए निर्धारित संख्या को ५००० से बढकार १०,००० करने का निर्णय लिया है। सरकार ने दृष्टिबाधित दिव्यांगों को स्मार्ट कैन उपलब्ध करवाने के मद में ३.६२ करो़ड रुपए रुपए की राशि आवंटित की है। ज्ञातव्य है कि हाल के दिनों में राज्य सरकार द्वारा राज्य के दिव्यांग व्यक्तियों के कल्याणार्थ कई कदम उठाए जा रहे हैं। पिछले महीने ही सरकार ने सरकारी नौकरियों में दृष्टिबाधित दिव्यांगों को एक प्रतिशत तथा सभी प्रकार के दिव्यांगों के लिए कुल मिलाकर ४ प्रतिशत आरक्षण देने की घोषणा की थी।विज्ञप्ति में बताया गया है कि सरकार की ओर से दिव्यांग व्यक्तियों को प्रति महीने १००० रुपए का दिव्यांगता पेंशन भी दी जाती है। इसके साथ ही समय-समय पर पैर, हाथ और अन्य प्रकार से दिव्यांग व्यक्तियों को चलने में सहायता करने वाले उपकरण भी नि:शुल्क दिए जाते हैं। सरकार की ओर से पैरों से दिव्यांग व्यक्तियों के लिए नि:शुल्क दोपहिया वाहन और ट्राइसाइकिल भी प्रदान की जाती है। दिव्यांगों के कल्याण के लिए कार्य करने वाले विभाग द्वारा इस वर्ष भी इस योजना के तहत लाभान्वित होने वाले दिव्यांग व्यक्तियों की सूची तैयार कर ली गई है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी पहले की सरकारें ग्रामीण अर्थव्यवस्था की जरूरतों को टुकड़ों में देखती थीं: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में भारत में दूध उत्पादन में करीब 60 प्रतिशत वृद्धि हुई है
ईडी ने अरविंद केजरीवाल को नया समन जारी किया
सीबीआई ने सत्यपाल मलिक के परिसरों सहित 30 से अधिक स्थानों पर छापे मारे
निवेश पर उच्च रिटर्न का वादा कर एक शख्स से 1.19 करोड़ रु. ठगे
नशे की प्रवृत्ति पर लगाम जरूरी
कर्नाटक सरकार ने अधिवक्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी पर उप-निरीक्षक को निलंबित किया
'हार रहे उम्मीदवारों को जिताया' ... पाक के चुनावों में 'धांधली' के आरोपों पर क्या बोला अमेरिका?