समय-सीमा समाप्त होते ही अब तबलीगी जमात के लोगों के खिलाफ दर्ज होगा मामला: अनिल विज

समय-सीमा समाप्त होते ही अब तबलीगी जमात के लोगों के खिलाफ दर्ज होगा मामला: अनिल विज

हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज

चंडीगढ़/भाषा। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने बुधवार को कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होने वाले जो लोग अब तक अधिकारियों के सामने नहीं आए हैं, उनके खिलाफ अब आपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा, क्योंकि उन्हें ऐसा करने के लिए दिया गया समय समाप्त हो गया है।

उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी बनाए रखने के निर्देशों के बीच जिन लोगों ने दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था, उनके खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया जाएगा। राज्य के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने मंगलवार को कहा था कि कोविड-19 के मामलों में ज्यादा बढ़ोतरी तबीलीगी जमात के अनेक लोगों के संक्रमित पाए जाने की वजह से है।

उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक तबलीगी जमात के 1,550 सदस्यों का पता लगाया गया है, जिनमें से 107 विदेशी हैं।लॉकडाउन से पहले राज्य में प्रवेश करने वाले इन लोगों में से ज्यादातार लोग नूंह जिले में मिले हैं। विज ने कहा था कि अगर जमात के सदस्य अब भी छिपे हैं तो वे आठ अप्रैल को शाम पांच बजे तक संबंधित जिला प्रशासन से संपर्क करें, अन्यथा कानून के अनुरूप उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

विज ने बुधवार को कहा, निर्देशित समय सीमा समाप्त हो चुकी है। अब जिनका पता लगाया जाएगा और वे कोविड-19 से संक्रमित मिले तो उनके खिलाफ धारा 307 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया जाएगा। लॉकडाउन की अवधि 14 अप्रैल के बाद आगे बढ़ाए जाने की स्थिति में जनता को बंद से आंशिक राहत के प्रश्न पर उन्होंने कहा, हम स्थिति की समीक्षा करेंगे। हम जल्द ही हर जिले में कोविड-19 के औचक तौर पर जांच कराएंगे और परिणामों के आधार पर कोई निर्णय लिया जाएगा।

हरियाणा में 11 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या बुधवार को 141 हो गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में कहा गया कि नए मामलों में फरीदाबाद में सात, नूंह में एक, पलवल में दो मामले सामने आए हैं। फतेहाबाद जिले में पहला मामला सामने आया है।

हरियाणा में फिलहाल 122 सक्रिय मामले हैं, 17 रोगियों को छुट्टी दी जा चुकी है और दो लोगों की मौत हुई है। वहीं, 558 नमूनों की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। बुलेटिन के अनुसार संक्रमण के कुल मामलों में 10 विदेशी नागरिक शामिल हैं जिनमें छह लोग श्रीलंका से और नेपाल, थाईलैंड, इंडोनेशिया तथा दक्षिण अफ्रीका से एक-एक व्यक्ति शामिल है। वहीं, 51 लोग भारत के अन्य राज्यों से हैं।

हरियाणा में सर्वाधिक प्रभावित जिलों में नूंह (38 मामले), पलवल (28) और फरीदाबाद (28) तथा गुरुग्राम (20) हैं।इस बीच राज्य की अलग-अलग जेलों में बंद सात साल से कम की सजा वाले अपराधों के दोषी 3,817 कैदियों को अंतरिम या नियमित जमानत और पैरोल पर रिहा कर दिया गया है।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement

Latest News

राजस्थान में सामाजिक सुरक्षा पेंशन अब न्यूनतम 1,000 रुपए प्रतिमाह मिलेगी राजस्थान में सामाजिक सुरक्षा पेंशन अब न्यूनतम 1,000 रुपए प्रतिमाह मिलेगी
बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री ने मानवीय दृष्टिकोण रखते हुए राशि में बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी
कर्नाटकः जद (एस) विधायक एसआर श्रीनिवास ने दिया इस्तीफा, इस पार्टी में होंगे शामिल
कर्नाटकः रिश्वत मामले में न्यायालय ने भाजपा विधायक की अग्रिम जमानत के खिलाफ याचिका पर जवाब मांगा
राजस्थान सरकार ‘अनुपयोगी’, भाजपा जीतेगी अगला विधानसभा चुनावः सीपी जोशी
राहुल गांधी देश को बदनाम करने का कोई अवसर नहीं छोड़ना चाहतेः भाजपा
भारत में 134 दिन बाद कोरोना के उपचाराधीन मरीज़ों की संख्या 10 हजार के पार
आशंकाओं का निवारण करें