एएमयू में विरोध मार्च निकालने वाले कश्मीरी छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग

एएमयू में विरोध मार्च निकालने वाले कश्मीरी छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग

अलीगढ़ मुस्लिम ​यूनिवर्सिटी

अलीगढ़/भाषा। भाजपा से जुड़े संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) परिसर में विरोध मार्च निकालने वाले कश्मीरी छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

अभाविप के प्रांतीय संगठन मंत्री सीटू चौधरी ने गुरुवार शाम एएमयू परिसर में कश्मीर के घटनाक्रम को लेकर विरोध मार्च निकालने वाले कश्मीरी छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग करते हुए शनिवार को कहा कि अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने के खिलाफ प्रदर्शन करना ‘देश विरोधी हरकत’ है। मानव संसाधन मंत्रालय को इस पूरे मामले की जांच करानी चाहिए।

इससे पहले, शुक्रवार की शाम अभाविप कार्यकर्ताओं ने कश्मीरी छात्रों को विश्वविद्यालय परिसर में विरोध मार्च निकालने की ‘इजाजत देने वाले’ एएमयू कुलपति का पुतला जलाया। एएमयू के रजिस्ट्रार अब्दुल हमीद ने शनिवार को बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन की इजाजत के बगैर परिसर में विरोध मार्च निकाले जाने पर उसके आयोजकों को ‘कारण बताओ नोटिस’ भेजा गया है।

उन्होंने बताया कि शुरुआती पड़ताल में पता चला है कि बृहस्पतिवार को कुछ कश्मीरी छात्र परिसर में स्थित कैंटीन के पास इकट्ठा हुए थे। उनका मकसद प्रशासन का ध्यान इस तरफ खींचना था कि उनमें से ज्यादातर छात्र पिछले करीब एक महीने से कश्मीर में अपने परिजनों से बात न होने पाने की वजह से बेहद परेशान हैं। इस वजह से उन्हें आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ रहा है।

हमीद ने कहा, हम पूरी घटना की जांच कर रहे हैं और विरोध मार्च के आयोजकों को जारी नोटिस का जवाब मिलने के बाद हम आगे की कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि एएमयू प्रशासन हालात का बारीकी से जायजा ले रहा है और परिसर में किसी भी तरह की गैर-कानूनी और राष्ट्रविरोधी गतिविधि को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News