उधार का उम्मीदवार देने वालों में नहीं है चुनाव प्रचार का साहस : योगी

उधार का उम्मीदवार देने वालों में नहीं है चुनाव प्रचार का साहस : योगी

सहारनपुर/वार्ताउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कैराना लोकसभा उपचुनाव को लेकर परोक्ष रूप से समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुये कहा कि उधार का उम्मीदवार देने वालों में चुनाव प्रचार के लिये मैदान पर उतरने की हिम्मत नहीं है। योगी ने यहां एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुये कहा, सपा ने कैराना लोकसभा सीट पर उधार का उम्मीदवार तो उतार दिया है लेकिन उनकी खुद की हिम्मत वहां आकर चुनाव प्रचार करने की नहीं हो रही है। वजह उनके हाथ २०१३ की मुजफ्फरनगर की हिंसा में निर्दोषों के खून से सने हुए है जिससे उनमें जनता का सामना करने का नैतिक साहस नहीं है। उन्होंने कहा, हमने सत्ता में आने के बाद पिछली सरकार द्वारा प्रदेश को बर्बाद करने वाली सभी नीतियों को बदल दिया है और प्रदेश को विकास और समृद्धि के मार्ग पर अग्रसर कर दिया है।मुख्यमंत्री ने दावा किया कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकारों ने समाज में बडे़ और सकारात्मक परिवर्तन किए है जिससे देश-प्रदेश विकास के मार्ग पर तेजी के साथ अग्रसर हुआ है। राज्य सरकार ने एक साल के भीतर ही किसानों, व्यापारियों और समाज के सभी वर्गों के लोगों में सुरक्षा का माहौल पैदा किया है जिससे किसान रात में भी खेतों पर काम करने लगे है और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना जैसे दुर्गम क्षेत्र से पलायन रूका है और प्रदेश में औद्योगीकरण एवं रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होने की स्थितियां पैदा हुई है। सहारनपुर के कस्बा अंबेहटा में भाजपा की लोकसभा उपचुनाव की उम्मीदवार मृगांका सिंह के पक्ष में आयोजित जनसभा में भीड देख गदगद श्री योगी ने किसानों को भरोसा दिया कि उनके बकाया गन्ना मूल्य का पाई-पाई का भुगतान चीनी मिलों से कराया जाएगा और यदि कोई दिक्कत पेश आई तो सरकार पैकेज देकर भुगतान कराएगी। उन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पापुलर की खेती करने वाले किसानों को भी आश्वस्त किया कि उन्हें अपने पेड औने-पौने दामों पर बेचने के लिए हरियाणा नहीं जाना पडेगा क्योंकि सरकार ने आरा मशीनों के लाइसेंसीकरण को सरलीकरण का काम किया है जिससे सहारनपुर में प्लाईवुड वगैरह के उद्योग-धंधे तेजी के साथ शुरू हो सकेंगे। योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने प्रदेश को डार्क जोन से मुक्त कर किसानों को टयूबवैल के कनेक्शन देने शुरू किए है। गरीब कन्याओं की शादी के लिए सामूहिक विवाह योजना शुरू की गई है। सहारनपुर में ही २७२ कन्याओं का सामूहिक विवाह कराया गया था। उन्होने कहा कि हम प्रदेश को खुले में शौच से मुक्त करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली सरकार में पुलिस-प्रशासन आगे-आगे होता था और बदमाश उनके पीछे होते थे और मुख्यमंत्री लखनऊ मे अपराधियों को सम्मानित करते थे। अब स्थिति बदल गई है। अब अपराधी भाग रहा है। प्रशासन उन्हें दौडा रहा है। बदमाश ठेला-खोमचा लगाने को मजबूर हुए है। उन्होने कहा कि हमने बहन, बेटियों, व्यापारियों, किसानों और सभी नागरिकों की सुरक्षा पर ध्यान दिया है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

वक्त की जरूरत वक्त की जरूरत
बेरोजगारी और गरीबी का चक्र कालांतर में कई समस्याएं भी पैदा करता है
पाकिस्तान में मारा गया सरबजीत का हत्यारा, अज्ञात हमलावरों ने किया ढेर
राम नवमी पर भगवान श्रीराम को चढ़ाएंगे इतने लड्डुओं का भोग!
चुनाव आ रहा है तो मोदी रसोई गैस सिलेंडर के दाम कम करने की बातें कर रहे हैं: प्रियंका वाड्रा
दपरे ने स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रयास तेज किए
'हताश' कांग्रेस ऐसी घोषणाएं कर रही, जो उसके नेताओं को ही समझ नहीं आ रहीं: मोदी
भाजपा के घोषणा-पत्र में सिर्फ दो बार 'जॉब्स' का जिक्र, जबकि बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या: श्रीनेत