तमिलनाडु अब शांतिपूर्ण राज्य नहीं रहा : पोन राधाकृष्णन

तमिलनाडु अब शांतिपूर्ण राज्य नहीं रहा : पोन राधाकृष्णन

कोयंबटूर। केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता पोन राधाकृष्णन ने गुुरुवार को यह दावा किया है कि तमिलनाडु अब शांतिपूर्ण राज्य नहीं रहा, बल्कि यह चरमपंथियों के लिए प्रशिक्षण केंद्र बन गया है। उन्होंने वर्ष १९९८ में कोयम्बटूर में हुए विस्फोट के मृतकों को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए यह बातें कहीं। इस कार्यक्रम का आयोजन विभिन्न हिंदू संगठनों और भाजपा की ओर से किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि तमिलनाडु ऐसी ताकतों के लिए शिविर और प्रशिक्षण केन्द्र बनता जा रहा है।वित्त एवं जहाजरानी राज्य मंत्री राधाकृष्णन ने कहा, तमिलनाडु में अब नक्सलियों, माओवादियों, तमिल चरमपंथियों और इस्लामी आतंकवादियों ने शासन के खिलाफ हाथ मिला लिया है। पिछले वर्ष जल्लीकट्टू आंदोलन के समय यह स्पष्ट दिखा था।उन्होंने कहा कि विभिन्न संगठनों ने अपनी अगले २० वर्षों की योजना भी बना ली है और इसके लिए वह अपने-अपने कार्यों में जुटे हुए हैं। हालांकि इसकी कोई जानकारी नहीं है कि सरकार और पुलिस विभाग को इसके बारे में कोई सूचना प्राप्त हुई है या नहीं। उन्होंने इस संबंध में जल्लीकट्टू के समर्थन में पिछले वर्ष चेन्नई के मरीना बीच पर २३ जनवरी को अयोजित वृहद प्रदर्शनका जिक्र किया। प्रदर्शन के आखिरी दिन प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए थे। प्रदर्शनकारियों ने जल्लीकट्टू के आयोजन के पक्ष में अधिसूचना जारी होने के बावजूद उस दौरान प्रदर्शन जारी रखा था। मंत्री ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार २० वर्ष पहले भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी की चुनावी रैली में हुए विस्फोट में मारे गये ५२ लोगों को श्रद्धांजलि देने की अनुमति नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने विस्फोट में मारे गए लोगों की याद में सरकार ने स्मारिका भी नहीं बनाने दी है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार केरल में हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा था। कुछ उसी प्रकार की स्थिति तमिलनाडु में भी बनती जा रही है। उन्होंने कहा कि लोगों की नि:स्वार्थ भाव से कार्य करने वाले संघों के कार्यकर्ताओं को विभिन्न संगठनों द्वारा धमकी देकर या उनकी उनकी हत्या करके इस प्रकार के कार्यों में जुटे लोगों का मनोबल तो़डने की कोशिश की जा रही है। मंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में प्रत्येक व्यक्ति या समुदाय को अपनी धार्मिक और सांस्कृति परंपराओं का पालन करने का पूरा अधिकार है। उन्होंने इस कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आगामी स्थानीय निकाय चुनाव के लिए प्रदेश भाजपा के नेताओं ने अपनी तैयारी शुरु कर दी है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में तमिलनाडु में भाजपा ने जमीनी स्तर पर संगठनात्मक बदलाव किया है। राज्य में भारी संख्या में युवा बल भाजपा के साथ जु़डा है इसलिए यह उम्मीद की जा सकती है कि आगामी स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा का प्रदर्शन पहले से बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा राज्य में चार नई स़डक चौ़डीकरण परियोजना शुुरु की जाएगी और इसके लिए केन्द्र सरकार द्वारा आवश्यक राशि आवंटित कर दी गई है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार भी विभिन्न केन्द्रीय परियोजना को पूरा करने के लिए आवश्यक सहयोग दे रही है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

राहुल गांधी कल कर्नाटक में 2 जनसभाओं को संबोधित करेंगे राहुल गांधी कल कर्नाटक में 2 जनसभाओं को संबोधित करेंगे
बेंगलूरु/दक्षिण भारत। कांग्रेस नेता राहुल गांधी आगामी लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रचार के लिए बुधवार को कर्नाटक में होंगे।...
जो देश हमें आंखें दिखाता था, आज वह कटोरा लेकर भटक रहा है: मोदी
जम्मू में बोले शाह- अंतिम सांसें गिन रहा आतंकवाद, पथराव करने वालों के हाथों में अब लैपटॉप
उच्चतम न्यायालय ने विज्ञापन मामले में रामदेव, बालकृष्ण से सार्वजनिक माफी मांगने को कहा
भाजपा ने उम्मीदवारों की 12वीं सूची जारी की
दशकों तक राज करने वाली कांग्रेस ने मौका गंवा दिया, देश का समय गंवा दिया: मोदी
कुदरत का हिसाब