महिला सशक्तिकरण से देश बढ़ेगा आगे : योगी

महिला सशक्तिकरण से देश बढ़ेगा आगे : योगी

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिला सशक्तिकरण से देश आगे बढेगा। माघ मेला परेड ग्राउंड में विद्या भारती की ओर से आयोजित समुत्कर्षा बालिका शिविर में चार दिवसीय कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में योगी ने रविवार को कहा, जब दुनिया में महिला सशक्तिकरण की बात चल रही है, तब पूरे देश के अंदर बेटियों को संस्कार वाली शिक्षा मिले, इसके लिए विद्या भारती काम कर रही है। वास्तव में भारत की संस्कृति मातृ प्रधान संस्कृति है।मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियां प़ढेंगी तभी भारत श्रेष्ठ होगा। बेटियां आगे चलकर समाज में फैली विकृतियों और रूढिवादियों को ता़ेडने के साथ समाज का मार्गदर्शन करेंगी। मां-बाप को सीख देते हुए योगी ने कहा कि बेटी और बेटों में किसी प्रकार का फर्क नहीं समझना चाहिए। जब परिवार में बेेटी पैदा होती है तो उस पर सभी प्रकार के अंकुश लगाए जाते हैं जबकि बेटे पर कोई बंदिश नहीं। इस फर्क से हमें ऊपर उठना होगा और बेटी-बेटा के बीच के फर्क को भुलाना होगा। बेटियां आज बेटों से कम नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की स्वाधीनता में रानी लक्ष्मीबाई २३ साल की उम्र में बच्चे को पीठ पर बांधकर शत्रु पर टूट प़डी थी। वह भी किसी की बेटी थी। रानी दुर्गावती और अहिल्याबाई होलकर को हमें उदाहरण स्वरूप लेना चाहिए और बेटियों को आगे बढाने में सहयोग करना चाहिए। उन्होने कहा कि देश के हर क्षेत्र में बेटियां-बेटों की ही तरह अपना योगदान दे रही है। उन्होंने कहा कि चाहे राजनीति, रक्षा विभाग या लोकसभा हर जगह इन्होंने अपने बेहतर नेतृत्व का परचम लहराया है। विदेश मंत्री के रूप में सुषमा स्वराज, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर देश गर्व करेगा। गंगा, यमुना और सरस्वती भी महिला सशक्तिकरण का उदाहारण हैं। ‘बेटी बचाओ बेटी प़ढाओ‘ के तहत ’’बेटी ब़ढाओ’’ का भी नारा देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस नारे को साकार करने के लिए बच्चियों के विकास के लिए योजनायें चला रखी हैं। इन योजनाओं के तहत उन्हें आगे बढने में सहायता मिलेगी। जरूरत पडने पर सरकार और योजनाओं को चालू करेगी।उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने उज्ज्वला योजना से महिलाओं को लाभान्वित किया है। उज्ज्वला की पूरी योजना केवल महिला सशक्तिकरण को समर्पित है। प्रदेश में महिलाओं को ६५ लाख नि:शुल्क गैस सिलेन्डर प्रदान किया गया उज्ज्वला की पूरी योजना केवल महिला सशक्तिकरण को समर्पित है। अब महिलाओं को ईंधन के लिए भटकना नहीं प़ड रहा। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश के सभी बैंकों को निर्देशित किया है कि गरीब, पिछ़डे वर्ग को स्वालम्बन प्रदान करने के लिए उन्हें सस्ता लोन १० लाख से लेकर एक करो़ड रुपए तक मुहैया कराकर महिलाओं को उनके पैरों पर ख़डा करना है।योगी ने कहा कि एक साल पहले तक उत्तर प्रदेश में भय का वातावरण था। पहले बाहरी राज्यों से लोग यूपी में आने से डरते थे। डकैती, गुंडा-गर्दी और हत्याओं का भय राज्य में व्याप्त था। लोग घरों से निकलने में डरते थे लेकिन अब वह डर समाप्त हो चुका है। प्रदेश में महिलाएं अपने आप को सुरक्षित समझने लगी हैं। महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार ने कई योजनाएं कार्यान्वित की है। इसी के तहत एंटी रोमियो स्क्वॉड, १०९० महिला हेल्पलाइन चालू की गई है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी स्वावलंबन कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। प्रदेश में ६० हजार ग्राम पंचायतें हैं। उन सभी में एक-एक स्वयं सेवी संगठन गठित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के प्रयास से यूनेस्को को भी कुंभ को मान्यता देनी प़डी। आज देश का माहौल बदला है। अब लोग देश को सम्मान की नजर से देखते हैं। भारत की योग परंपरा से दुनिया के १९२ देश अपने को जो़ड रहे हैं। गंगा को अविरल करने के लिए सरकार बिना राज्य सरकारों पर बोझ डाले हुए २० हजार करो़ड खर्च कर रही है।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News