कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूत करने के लिए टीकों की बर्बादी रोकना महत्वपूर्ण: मोदी

कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूत करने के लिए टीकों की बर्बादी रोकना महत्वपूर्ण: मोदी

कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूत करने के लिए टीकों की बर्बादी रोकना महत्वपूर्ण: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। फोटो स्रोत: भाजपा ट्विटर अकाउंट।

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में टीकों की बर्बादी रोकने के प्रयासों पर जोर देते हुए इसे महत्वपूर्ण बताया है। उन्होंने ऐसे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और नर्सों की तारीफ की जो ज्यादा से ज्यादा टीकों के सदुपयोग के लिए प्रयासरत हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री ने यह बात केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन के ट्वीट का उल्लेख करते हुए कही। विजयन ने कहा था कि राज्य को केंद्र सरकार से टीकों की 73,38,806 खुराकें मिलीं और उपलब्ध अतिरिक्त खुराकों का भी इस्तेमाल करते 74,26,164 खुराकें दी गईं।

ट्वीट में विजयन ने कहा कि हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ता, विशेष रूप से नर्स अत्यधिक कुशल रहे हैं और वे प्रशंसा के पात्र हैं।

इस पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और नर्सों की तारीफ की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘यह देखकर अच्छा लगा कि हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ता और नर्स टीकों के अपव्यय को कम करने में एक उदाहरण स्थापित करते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के लिए टीकों के अपव्यय को कम करना महत्वपूर्ण है।’

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

क्राइस्टचर्च: कॉमनवेल्थ कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में सेजल के दमदार प्रदर्शन के साथ भारत ने जीता रजत पदक क्राइस्टचर्च: कॉमनवेल्थ कैडेट फेंसिंग चैंपियनशिप में सेजल के दमदार प्रदर्शन के साथ भारत ने जीता रजत पदक
उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिलने के लिए आभार व्यक्त किया है
तटीय कर्नाटक में रेलवे विकास कार्यों में तेजी लाई जाएगी: केंद्रीय मंत्री सोमन्ना
ट्रंप पर हमले में ईरान का हाथ? जनरल सुलेमानी की हत्या होने के बाद खाई थी यह कसम!
कर्नाटक: वाल्मीकि निगम घोटाला मामले में ईडी ने पूर्व मंत्री नागेंद्र की पत्नी से पूछताछ की
बांग्लादेश में लगी आरक्षण आंदोलन की आग, झड़पों में कई लोगों की मौत
कई नेताओं ने छोड़ी अजित पवार की राकांपा, सु​प्रिया बोलीं- 'लोग बड़ी उम्मीदों से देख रहे'
कर्नाटक ने निजी क्षेत्र में कन्नड़ लोगों के लिए 100% कोटा अनिवार्य करने वाले विधेयक को मंजूरी दी