राम मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री को इन 2 तिथियों का भेजा गया सुझाव

राम मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री को इन 2 तिथियों का भेजा गया सुझाव

राम मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री को इन 2 तिथियों का भेजा गया सुझाव

करोड़ों रामभक्तों को प्रतीक्षा है कि अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर शीघ्र बनकर तैयार हो।

अयोध्या/दक्षिण भारत। राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की शनिवार को बैठक हुई। इसमें मंदिर निर्माण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दो तिथियों का सुझाव भेजने पर सहमति हुई। इस बैठक के बाद राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के कामेश्वर चौपाल ने बताया, ‘आज बैठक में राम मंदिर के निर्माण कार्य का शुभारंभ करने के लिए प्रधानमंत्रीजी को दो तिथियों का सुझाव भेजा गया है- 3 अगस्त और 5 अगस्त।’

उन्होंने कहा, ‘इनमें से जो सुविधाजनक लगेगी, उस तिथि को शुभारंभ हो जाएगा।’ वहीं, राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा, ‘समाज के 10 करोड़ परिवारों से धनसंग्रह करने की चर्चा आज निकली है। इनसे संपर्क किया जाएगा। जब धनसंग्रह और बाकी की ड्राइंग पूरी हो जाएंगी, उसके बाद 3 से 3.5 साल में मंदिर के निर्माण का काम पूरा कर दिया जाएगा।’

चंपत राय ने कहा, ‘हमारा स्पष्ट मत है कि समाज जितना धन देगा, उतना धन मंदिर निर्माण में खर्च होगा। आज हम गणित नहीं लगा सकते। धार्मिक कार्यों में ऐसा करना भी नहीं चाहिए। भगवान के काम में पैसे की कमी नहीं आएगी।’

बता दें कि राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की यह दूसरी बैठक थी जो सर्किट हाउस में संपन्न हुई। बैठक में ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, कामेश्वर चौपाल, नृत्यगोपाल दास, गोविंद देव गिरि महाराज और दिनेंद्र दास समेत दूसरे ट्रस्टी मौजूद थे।

इस बैठक पर देशभर की निगाहें थीं। चूंकि करोड़ों रामभक्तों को प्रतीक्षा है कि अब उच्चतम न्यायालय के दिशा-निर्देशानुसार अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

वक्त की जरूरत वक्त की जरूरत
बेरोजगारी और गरीबी का चक्र कालांतर में कई समस्याएं भी पैदा करता है
पाकिस्तान में मारा गया सरबजीत का हत्यारा, अज्ञात हमलावरों ने किया ढेर
राम नवमी पर भगवान श्रीराम को चढ़ाएंगे इतने लड्डुओं का भोग!
चुनाव आ रहा है तो मोदी रसोई गैस सिलेंडर के दाम कम करने की बातें कर रहे हैं: प्रियंका वाड्रा
दपरे ने स्टेशनों पर पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रयास तेज किए
'हताश' कांग्रेस ऐसी घोषणाएं कर रही, जो उसके नेताओं को ही समझ नहीं आ रहीं: मोदी
भाजपा के घोषणा-पत्र में सिर्फ दो बार 'जॉब्स' का जिक्र, जबकि बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या: श्रीनेत