जम्मू-कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले का केजरीवाल ने किया समर्थन

जम्मू-कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले का केजरीवाल ने किया समर्थन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली/भाषा। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी केंद्र के जम्मू-कश्मीर पर फैसले का समर्थन करती है।

मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट ने कहा, हमें आशा है कि इससे राज्य में शांति आएगी और विकास होगा। केजरीवाल ने यह टिप्पणी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के संसद के दोनों सदनों में बयान देने के कुछ समय बाद की। इसमें शाह ने बताया था कि अनुच्छेद-370 जम्मू-कश्मीर पर लागू नहीं होगा।

केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी केंद्र के जम्मू-कश्मीर को लेकर उठाए कदम का समर्थन करती है। ‘आप’ के राज्यसभा में तीन सदस्य- संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता तथा लोकसभा में एक सदस्य भगवंत सिंह मान हैं।

उमर ने बताया ​सरकार का ‘विश्वासघात’
वहीं, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने अनुच्छेद-370 पर सरकार के कदम को ‘एकतरफा एवं चौंकाने वाला’ करार दिया और कहा कि यह राज्य की जनता के साथ ‘पूरी तरह विश्वासघात’ है।

उन्होंने कहा, ‘आज किया गया भारत सरकार का एकतरफा एवं चौंकाने वाला निर्णय उस भरोसे के साथ पूरी तरह धोखा है जो जम्मू-कश्मीर के लोगों ने भारत में जताया था जब राज्य का 1947 में इसके साथ विलय हुआ था। ये फैसले दूरगामी एवं भयंकर परिणाम देने वाले होंगे। यह राज्य के लोगों के प्रति दिखाई गई आक्रामकता है जिसकी कल श्रीनगर में सर्वदलीय बैठक में आशंका जताई गई थी।’

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी सपा-कांग्रेस के 'शहजादों' को अपने परिवार के आगे कुछ भी नहीं दिखता: मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा सरकार में माफिया गरीबों की जमीनों पर कब्जा करता था
केजरीवाल का शाह से सवाल- क्या दिल्ली के लोग पाकिस्तानी हैं?
किसी युवा को परिवार छोड़कर अन्य राज्य में न जाना पड़े, ऐसा ओडिशा बनाना चाहते हैं: शाह
बेंगलूरु हवाईअड्डे ने वाहन प्रवेश शुल्क संबंधी फैसला वापस लिया
जो काम 10 वर्षों में हुआ, उससे ज्यादा अगले पांच वर्षों में होगा: मोदी
रईसी के बाद ईरान की बागडोर संभालने वाले मोखबर कौन हैं, कब तक पद पर रहेंगे?
'न चुनाव प्रचार किया, न वोट डाला' ... भाजपा ने इन वरिष्ठ नेता को दिया 'कारण बताओ' नोटिस