जेल के अंदर कमाए हुए पैसों को तलवार दंपति ने लेने से किया इनकार

जेल के अंदर कमाए हुए पैसों को तलवार दंपति ने लेने से किया इनकार

डासना (उप्र)। आरुषि-हेमराज हत्या कांड के संबंध में वर्ष २०१३ से डासना जेल में सजा काट रहे दंत चिकित्सक दंपति राजेश एवं नूपुर तलवार ने इस दौरान जेल के अंदर मरीजों को दी गई अपनी अपनी सेवाओं का मेहनताना लेने से इनकार कर दिया है। जेल अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने १२ अक्टूबर को तलवार दंपति को अपनी बेटी आरुषि एवं घरेलू सहायक हेमराज की हत्या के आरोपों से बरी कर दिया। जेल अधिकारियों के मुताबिक तलवार दंपति से जल्द से जल्द अपना उपचार कराने के लिए जेल के मरीजों में हो़ड मचा है। उन्होंने बताया कि तलवार दंपति ने जेल के अंदर मरीजों की सेवाओं के लिए मिलने वाला अपना पारिश्रमिक लेने से इनकार कर दिया है। जेल अधीक्षक डी. मौर्य ने बताया कि इस दौरान उन्होंने करीब ४९,५०० रुपए कमाए हैं। सजा सुनाए जाने के बाद तलवार दंपति नवंबर २०१३ से जेल के अंदर मरीजों का उपचार कर रहे थे। तलवार दंपति ने अधिकारियों को आश्वस्त किया है कि कैदियों के उपचार के लिए हर १५ दिन पर वे जेल आते रहेंगे।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News