भाजपा ने जारी किया संकल्प पत्र, मोदी बोले- राष्ट्रवाद, अंत्योदय और सुशासन हमारा मिशन

भाजपा ने जारी किया संकल्प पत्र, मोदी बोले- राष्ट्रवाद, अंत्योदय और सुशासन हमारा मिशन

गृहमंत्री राजनाथ सिंह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए।

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को अपना चुनाव घोषणा पत्र जारी कर दिया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित भाजपा के कई वरिष्ठ नेता मौजूद हैं। भाजपा ने इस घोषणा पत्र को ‘संकल्प पत्र’ नाम दिया है। यहां जानिए हर अपडेट:

– हमारा संकल्प पत्र, सुशासन पत्र भी है। हमारा संकल्प पत्र, राष्ट्र की सुरक्षा का पत्र भी है। हमारा संकल्प पत्र, राष्ट्र की समृद्धि का पत्र भी है: मोदी

– दिल्ली में एयर कंडीशन मैं बैठे लोग गरीबी को हरा नहीं सकते। गरीब ही गरीबी को परास्त कर सकता है। ये हमारा मंत्र है और इसलिए गरीबों के सशक्तिकरण को हमने बल दिया है: मोदी

– देश का विकास करने के लिए विकास को जन आंदोलन बनाने की जरूरत है और इसका सफल प्रयोग ‘स्वच्छता’ है। आज स्वच्छता एक जन आंदोलन बन गई है: मोदी

– अपने इस कार्यकाल में हमने सामान्य मानवीय की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर शासन चलाया। अब उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हम क्या कर सकते हैं, वो संकल्प पत्र में लेकर आए हैं: मोदी

– 2014-19 हमारे सारे कामों को देखा जाए तो हमारे सभी कामों की रचना के मूल में सामान्य मानवीय की आवश्यकताओं को बल दिया गया है: मोदी

– आज देश के कई प्रदेशों में पानी की समस्या के समाधान को गंभीरता से सोचने की जरूरत है। इसलिए हम एक अलग ‘जल शक्ति मंत्रालय’ बनाएंगे: मोदी

– हम देश को समृद्ध बनाने के लिए, सामान्य मानव के सशक्तिकरण को लेकर जन भागीदारी को बढ़ाते हुए, लोकतांत्रिक मूल्यों को बढ़ावा देते हुए, हम ‘वन मिशन, वन डायरेक्शन’ को लेकर आगे बढ़ेंगे: मोदी

– हमारे समाज में विविधताएं हैं। भाषाएं, जीवन स्तर, शिक्षा आदि की विविधता है। इसलिए विकास को मल्टीलेयर बनाने के लिए हमने अपनी योजना को संकल्प पत्र में समाहित किया है: मोदी

– 2022 में जब आजादी के 75 साल होंगे तब देश के उन महापुरुषों जिन्होंने आजादी की जंग लड़ी थी, उनके सपनों का भारत बनाने के लिए हमने 75 लक्ष्य तय किए हैं: मोदी

– राष्ट्रवाद हमारी प्रेरणा है, अंत्योदय हमारा दर्शन है और सुशासन हमारा मंत्र है: प्रधानमंत्री मोदी

– राजनाथजी के नेतृत्व में हमारे अध्यक्षजी ने जो कमेटी बनाई थी, उसने पिछले दो-तीन महीने लगातार मेहनत की और एक प्रकार से जन के मन की बात और उनकी आशा, अपेक्षा और आकांक्षाओं को एक डॉक्यूमेंट के रूप में ढाला है। इसके लिए मैं इस पूरी टीम को बधाई देता हूं: प्रधानमंत्री मोदी

– वैश्विक भारत: प्रवासी भारतीयों के बीच पारस्परिक संवाद को बढ़ावा देने के लिए ‘भारत गौरव’ की शुरुआत। वैश्विक समस्याओं जैसे आतंकवाद और भ्रष्टाचार के विरुद्ध बहुपक्षीय सहयोग। राजनयिक और सम्बंधित कैडरों का सशक्तिकरण: सुषमा स्वराज

– 2014 तक हमारे केवल 59 गांव ऑप्टिकल फाइबर से कनेक्टिड थे, लेकिन आज 1 लाख 16 हजार गांवों को ऑप्टिकल फाइबर के माध्यम से जोड़ा जा चुका है: सुषमा स्वराज

– सांस्कृतिक धरोहर: संवैधानिक ढांचे के तहत सभी पहलुओं पर विचार करते हुए अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए आवश्यक प्रयास। गंगोत्री से गंगा सागर तक गंगा नदी का स्वच्छ, निर्बाध प्रवाह सुनिश्चित करना। समान नागरिक संहिता लाने की दृढ़ प्रतिबद्धता: भाजपा का संकल्प पत्र

– सबसे पहले तो आप सभी मीडिया के मित्र हमारे शीर्षक और दूसरी पार्टियों के शीर्षक में अंतर समझें। बाकी पार्टियां घोषणा पत्र लेकर आई हैं, लेकिन हम संकल्प पत्र लेकर आए हैं और इन संकल्पों को पूरा करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं: सुषमा स्वराज

– समावेशी विकास: गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों की संख्या को घटाकर 10% से भी कम करना। 5 किलोमीटर के दायरे में बैंकिंग सुविधाएं। सभी छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन: भाजपा का संकल्प पत्र

– महिला सशक्तिकरण: तीन तलाक, निकाह हलाला जैसी प्रथाओं को प्रतिबंधित व समाप्त करने को विधेयक। सभी आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ता को आयुष्मान भारत के तहत लाना। कम से कम 50% महिला कर्मचारी रखने वाले एमएसएमई उद्योगों द्वारा सरकार के लिए 10% उत्पाद खरीद: भाजपा का संकल्प पत्र

– सबके लिए शिक्षाः 200 नए केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालयों का निर्माण। वर्ष 2024 तक एमबीबीएस और स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की संख्या दोगुनी करना। भारतीय शैक्षणिक संस्थानों का विश्व के शीर्ष 500 शैक्षणिक संस्थानों में स्थान: भाजपा का संकल्प पत्र

– भारतीय अर्थव्यवस्था को तेज़ी से विकसित करने के लिए 22 प्रमुख चैम्पियन सेक्टरों का निर्धारण। उद्यमियों को बिना किसी सिक्योरिटी के 50 लाख रु तक का ऋण। पूर्वोत्तर राज्यों में एमएसएमई को पूंजीगत सहायता देने के लिए ‘उद्यमी पूर्वोत्तर’ योजना: भाजपा का संकल्प पत्र

– लोकसभा, विधानसभा व स्थानीय निकायों के लिए एक साथ चुनाव के मुद्दे पर सर्वसम्मति बनाना। प्रभावी शासन और पारदर्शी निर्णयन के माध्यम से भारत को भ्रष्टाचार से मुक्त बनाना। सार्वजनिक सेवाओं की समयबद्ध आपूर्ति के लिए सेवा आपूर्ति के अधिकार सुनिश्चित करना: भाजपा का संकल्प पत्र

– स्वस्थ भारत: 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केन्द्रों में टेलीमेडिसिन और डायग्नोस्टिक लैब सुवाधाएं। हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज या परास्नातक मेडिकल कॉलेज। वर्ष 2022 तक सभी बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए पूर्ण टीकाकरण: भाजपा का संकल्प पत्र

– नए भारत की बुनियाद: सभी बसावटों को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) का दर्जा। 50 शहरों में एक मजबूत मेट्रो नेटवर्क। सड़क नेटवर्क विकसित करने के लिए भारतमाला 2.0 द्वारा राज्यों को सहायता: भाजपा का संकल्प पत्र

– वर्ष 2025 तक 5 लाख करोड़ डॉलर और वर्ष 2032 तक 10 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा। इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में 100 लाख करोड़ रुपए का पूंजीगत निवेश। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी योजना: भाजपा का संकल्प पत्र

– किसानों की आय दोगुनी: कृषि क्षेत्र में उत्पादकता बढ़ाने के लिए 25 लाख करोड़ रुपए का निवेश। देश के सभी किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ। छोटे तथा खेतिहर किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन की योजना: भाजपा का संकल्प पत्र

– राष्ट्रीय सुरक्षा नीति केवल हमारे राष्ट्रीय सुरक्षा विषयों द्वारा निर्देशित होगी। आतंकवाद और उग्रवाद के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की नीति को पूरी दृढ़ता से जारी रखेंगे। सुरक्षा बलों को आतंकवादियों का सामना करने के लिए फ्री हैंड नीति जारी रहेगी: भाजपा का संकल्प पत्र

– इस संकल्प पत्र के माध्यम से हम नए भारत के निर्माण में 130 करोड़ देशवासियों की आकांक्षाओं को विज़न डॉक्यूमेंट के रूप में पेश कर रहे हैं: राजनाथ सिंह

– 2019 लोकसभा चुनाव के लिए यह संकल्प पत्र बनाने के लिए हमारे अध्यक्षजी ने मेरी अध्यक्षता में एक समिति बनाई और मेरे साथ 12 लोगों को भी उसमें नामित किया था और संकल्प पत्र को मल्टी डायमेन्सनल बनाने के लिए 12 श्रेणियों में भी उसे विभाजित किया था: राजनाथ सिंह

– 2014-19 तक जो यात्रा चली है, इसमें देश का चहुमुंखी विकास हुआ है। देश की आशा अब अपेक्षा में बदल चुकी हैं: शाह

– नरेंद्र मोदी सरकार ने 5 साल में 50 से ज्यादा बड़े कदम उठाए हैं, जो इतिहास का हिस्सा बनने वाले हैं: शाह

– 2014 में भारत की अर्थव्यवस्था 11 वें नंबर पर थी, आज हम दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हैं और तेजी से 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने के लिए अग्रसर हैं: शाह

– आज देश के अधिकांश घरों में बिजली है। 8 करोड़ से ज्यादा शौचालय हैं, 7 करोड़ गरीबों के घर में गैस कनेक्शन दिए गए हैं, 50 करोड़ गरीबों के लिए मुफ्त इलाज सुनिश्चित किया गया है: शाह

– 2014-19 की यात्रा ऐसी है कि जब भी भारत के विकास का और भारत की दुनिया में साख बनने का इतिहास लिखा जाएगा तो ये कार्यकाल स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा: शाह

– मैं आपको 2014 की याद दिला रहा हूं। तब भाजपा ने गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री को देश के प्रधानमंत्री पद का दावेदार बनाया था। तब हम देश कैसे चलेगा इसका विजन लेकर आपके सामने आए थे। तब हमें सम्मान देते हुए जनता ने हमें ऐतिहासिक सफलता दी थी: शाह

– मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने का काम किया: शाह

– घर, शिक्षा, शौचालय जैसी बुनियादी चीजों को हर गरीब के पास पहुंचाने के लिए पूरा प्रयास किया गया: शाह

– मोदी सरकार के ये पांच साल स्वर्ण अक्षरों में लिखे जाएंगे: शाह

– साल 2014 में हमारी बात का सम्मान रखते हुए देश की जनता ने ऐतिहासिक जीत दिलाई थी: शाह

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

आज सब्जी बेचने वाला भी डिजिटल पेमेंट लेता है, यह बदलता भारत है: नड्डा आज सब्जी बेचने वाला भी डिजिटल पेमेंट लेता है, यह बदलता भारत है: नड्डा
नड्डा ने कहा कि लालू यादव, तेजस्वी और राहुल गांधी कहते थे कि भारत तो अनपढ़ देश है, गांव में...
राजकोट: गेमिंग जोन में आग मामले में अब तक पुलिस ने क्या कार्रवाई की?
पीओके भारत का है, उसे लेकर रहेंगे: शाह
जैन मिशन अस्पताल द्वारा महिलाओं के लिए निःशुल्क सर्वाइकल कैंसर और स्तन जांच शिविर 17 जून तक
राजकोट: गुजरात उच्च न्यायालय ने अग्निकांड का स्वत: संज्ञान लिया, इसे मानव निर्मित आपदा बताया
इंडि गठबंधन वालों को देश 'अच्छी तरह' जान गया है: मोदी
चक्रवात 'रेमल' के बारे में आई यह बड़ी खबर, यहां रहेगा ज़बर्दस्त असर