विपक्ष के हर वार का इन शब्दों में दिया मोदी ने जवाब, जानिए क्या बोले प्रधानमंत्री

विपक्ष के हर वार का इन शब्दों में दिया मोदी ने जवाब, जानिए क्या बोले प्रधानमंत्री

PM Modi In Lok Sabha

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में जवाब दिया। उन्होंने विपक्ष के रवैए पर कहा कि कुछ लोगों को नकारात्मक राजनीति ने घेर रखा है। उन्होंने राहुल गांधी द्वारा उन्हें अचानक गले लगाए जाने की घटना पर कहा, आज सुबह हड़बड़ी में कोई कह रहा था कि उठो-उठो। प्रधानमंत्री ने सदन में कहा कि अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करें। उन्होंने अपने भाषण में लोकतंत्र का उल्लेख करते हुए कहा, लोकतंत्र में लोकतांत्रिक प्रणालियों पर भरोसा होना चाहिए। अविश्वास प्रस्ताव यह बताता है कि इस देश में लोकतंत्र जिंदा है। लोकतंत्र में जनता भाग्य विधाता होती है।

प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान विपक्ष ने खूब हंगामा किया। मोदी ने इस अविश्वास प्रस्ताव पर कहा, यह सरकार का फ्लोर टेस्ट नहीं है। विपक्ष का फोर्स्ड टेस्ट है। मोदी ने केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, हमने 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई। पूर्वी-उत्तर भारत के 15 गांवों में बिजली पहुंचाने का काम किया। इस पर भी विपक्ष को विश्वास नहीं।

उन्होंने कहा, सरकार ने 8 करोड़ शौचालय बनवाए। दो साल में 5 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर आए हैं। पहले मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनियां दो थीं और आज 120 हैं। मोदी ने किसानों के बारे में कहा कि 2022 तक आय दुगनी करने की दिशा में लगातार कदम आगे बढ़ाते जा रहें हैं। मोदी ने विपक्ष पर तंज कसा, देश को विश्वास है, दुनिया को विश्वास है, दुनिया की सर्वश्रेष्ठ संस्थाओं को विश्वास है लेकिन जिन्हें खुद पर विश्वास नहीं वो कैसे विश्वास करेंगें?

प्रधानमंत्री ने कहा, मेरी आपको शुभकामनाएं हैं कि आप 2024 में भी अविश्वास प्रस्ताव ले आएं। उन्होंने कांग्रेस की नीयत पर सवाल उठाते हुए कहा, कांग्रेस को चुनाव आयोग पर, न्यायपालिका पर, आरबीआई पर, अंतरराष्ट्रीय संस्थानों पर भरोसा नहीं क्योंकि उन्हें खुद पर भरोसा नहीं। राफेल सौदे पर उन्होंने कहा, राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में संसद में ऐसे बचकाने बयान दिए गए जिसे खुद दोनों देशों की सरकारों को खारिज करना पड़ा। इससे देश की छवि को नुकसान होता है। इससे बचना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने सर्जिकल स्ट्राइक पर कहा, आपने सर्जिकल स्ट्राइक को जुमला स्ट्राइक कहा। मुझे जितना गाली देना है दे दीजिए पर देश के जवानों को गाली मत दीजिए। मैं अपनी सेना का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकता। मोदी ने दिनभर के घटनाक्रम पर कहा, आज पूरा देश देख रहा था टीवी पर आंखों का खेल। कैसे आंखें खोली जा रही हैं कैसे बंद की जा रही हैं।

मोदी राहुल गांधी पर चुटकी लेने से नहीं चूके। उन्होंने कहा, हम चौकीदार हैं, हम भागीदार भी हैं। हम आपकी तरह ठेकेदार नहीं हैं, सौदागर नहीं हैं। उन्होंने वाजपेयी सरकार के शासन काल में बने राज्यों पर कहा, अटल जी ने तीन राज्य बनाए थे- झारखंड, छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड। यह सब शांति से हुआ। तीनों राज्य संपन्न हो रहें है। कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश का विभाजन किया और उनका व्यवहार तब शर्मनाक था।

मोदी ने तेदेपा के बारे में कहा कि जब यह राजग से अलग हो रही थी तो चंद्रबाबू नायडू को फोन करके चेतावनी दी कि वायएसआर कांग्रेस के जाल में फंस रहे हैं। उन्होंने आंध्र प्रदेश के लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा, मैं आंध्र प्रदेश के लोगों को बताना चाहता हू्ं कि हम उनके लिए काम करते रहेंगे। हम आंध्र प्रदेश के विकास के लिए हर संभव कार्य करेंगे।

उन्होंने कांग्रेस के बारे में कहा, कांग्रेस ने बच्चे को तो बचा लिया पर मां को मार दिया। मोदी ने मुस्लिम समाज की तीन तलाक प्रथा के बारे में कहा, तीन तलाक पर सरकार महिलाओं के साथ मजबूती खड़ी रही। बैंकों की खस्ता हालत के बारे में प्रधानमंत्री बोले, कांग्रेस के समय में फोन पर लोन दिए जाते थे। एनपीए का जाल उस समय में ही फैला था।

मोदी ने मॉब लिंचिंग पर सख्त रुख दिखाया। वे बोले, हिंसा की कोई भी घटना देश के लिए शर्मनाक हैं। मैं राज्य सरकारों से अपील करता हू्ं जो इस तरह की हरकतों में लिप्त होते हैं उनको सजा दें। उन्होंने ट्रांसपोर्ट सेक्टर में रोजगार के बारे में कहा कि 11 लाख 40 हजार लोगों को रोजगार मिला है, 7 लाख नई गाड़ियां रजिस्टर हुई हैं।

प्रधानमंत्री ने उम्मीद जताई कि न्यू इंडिया नई संभावनाओं का आधार बनेगा, जिसमें किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं होगा, किसी के प्रति कोई अविश्वास नहीं होगा।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News