दो हिरोइनों वाली फिल्म करना चाहती थी जिसमें दोनों की भूमिकाएं बराबर महत्व की हों: तापसी पन्नू

दो हिरोइनों वाली फिल्म करना चाहती थी जिसमें दोनों की भूमिकाएं बराबर महत्व की हों: तापसी पन्नू

तापसी पन्नू

मुंबई/भाषा। अभिनेत्री तापसी पन्नू का कहना है कि वे काफी समय से ऐसी फिल्म का इंतजार कर रही थीं जिसमें दो हिरोइनें हों और दोनों की भूमिका समान महत्व की हो। उनकी फिल्म ‘सांड की आंख’ के साथ उनका यह इंतजार खत्म हो गया। इसमें वह अभिनेत्री भूमि पेडनेकर के साथ हैं।

फिल्म उत्तर प्रदेश के जोहरी गांव की रहने वाली चंद्रो तोमर और प्रकाशी तोमर के जीवन पर आधारित है। दोनों महिलाएं दुनिया की सबसे उम्रदराज शार्प शूटर हैं। उन्होंने कई राष्ट्रीय चैंपियनशिप भी जीती हैं। फिल्म में तापसी प्रकाशी तोमर की भूमिका में हैं जबकि भूमि चंद्रो बनी हैं।

तापसी ने कहा, मैं ऐसी फिल्म करना चाहती थी जिसमें दो हिरोइनें हों और दोनों के किरदार बराबर महत्व के हों। मुझे पता चला कि एक टीम इस तरह की एक कहानी पर काम कर रही है। यह ऐसी महिलाओं की कहानी है जिन्होंने अपना जीवन अपने परिवार की इच्छानुसार जिया, शादी के बाद पति की इच्छा से जिया और फिर बच्चों की मर्जी से जिया। तो फिर उन्होंने अपना जीवन जिया ही कब? तापसी ने कहा कि वे चाहती हैं कि सभी लोग अपने माता-पिता को यह फिल्म दिखाने ले जाएं।

Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List