चिन्मयानंद से रंगदारी मामले में नया मोड़, वायरल वीडियो में छात्रा के दावे पर उठे सवाल

चिन्मयानंद से रंगदारी मामले में नया मोड़, वायरल वीडियो में छात्रा के दावे पर उठे सवाल

चिन्मयानंद

नई दिल्ली/दक्षिण भारत। पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री चिन्मयानंद से रंगदारी मांगे जाने के मामले में नया मोड़ आ गया है। चिन्मयानंद पर जिस छात्रा ने दुष्कर्म का आरोप लगाया, उसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वीडियो में छात्रा जो बातें कहती दिख रही है, उससे कई सवाल खड़े हो रहे हैं।

एक रिपोर्ट के अनुसार, इस वीडियो का ताल्लुक चिन्मायानंद से फिरौती मांगे जाने से है। वीडियो में देखा गया कि गाड़ी में बैठे लोग मैसेज भेजे जाने पर बहस कर रहे हैं। उसमें छात्रा के साथ उसके तीन दोस्त भी हैं। इसमें पीछे की सीट पर बैठा एक युवक नाखुशी जता रहा है। इस दौरान सोनू नामक शख्स का नाम लिया जाता है।

वीडियो में यह शख्स कहता है कि सिम के साथ जिसकी आईडी लगी होगी, उसे पुलिस पकड़ेगी। वहीं, युवती नसीहत देती है कि ऐसे में तो किसी की सिम चोरी कर लेते। इसके जवाब में युवक कहता है कि लखनऊ, बरेली से सिम चुरा लेते तो क्या वॉट्सएप नहीं बनता!

‘चोरी कर लेते, पकड़े तो नहीं जाते’
इसके बाद युवती कहती है कि अगर चोरी कर लेते तो ठीक रहता, पकड़े तो नहीं जाते। पूरे घटनाक्रम पर सवाल उठाते हुए कार में आगे की सीट पर बैठा युवक कहता है, इसकी क्या जरूरत थी, मैसेज क्यों किया? इन सवालों पर पीछे बैठा युवक कहता है कि इसमें उसका नाम आ रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, ड्राइवर ने यह वीडियो रिकॉर्ड किया था।

क्या बोले चिन्मयानंद के वकील?
चिन्मयानंद को 22 अगस्त को मिले एक मैसेज में पांच करोड़ रुपए की मांग की गई थी। उनके वकील ओम सिंह ने बताया कि मामले में गहरी साजिश है। उन्होंने आरोप लगाया कि छात्रा रंगदारी मांगने के लिए अपने दोस्तों से बातचीत के दौरान यह भी दावा कर रही है कि वह तो नरेंद्र मोदी का भी सिम चोरी कर सकती है!

ओम सिंह ने छात्रा पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो ऐसा करने की हिम्मत रखती है, वह क्या नहीं कर सकती! वकील ने कहा कि छात्रा दावा कर रही है कि वह एक साल से शारीरिक शोषण की शिकार है। वहीं, उसके द्वारा सोशल मीडिया पर पोस्ट की गईं तस्वीरें इससे अलग बात बयान करती हैं।

ओम सिंह ने एक बार फिर इस दावे को दोहराया कि चिन्मयानंद को बदनाम करने के लिए यह षड्यंत्र रचा गया। उन्होंने कहा कि रुपए मांगने का षड्यंत्र काफी समय से कई लोगों के बीच जारी था। वकील ने दावा किया कि छात्रा ने षड्यंत्र रचकर चिन्मयानंद को फंसाया। उन्होंने छात्रा पर ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाते हुए कहा कि मामले में चिन्मयानंद पीड़ित हैं, क्योंकि छात्रा सालभर से ब्लैकमेल कर रही थी।

गिरफ्तारी के बाद न्यायिक हिरासत में
उल्लेखनीय है कि चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा को उनसे पांच करोड़ रुपए की रंगदारी मांगने के आरोप में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने 25 सितंबर को गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। रंगदारी मामले में तीन आरोपी पहले ही जेल भेजे जा चुके हैं।

Google News
Tags:

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News

राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना राहुल ने फिर उठाया 'जाति और आबादी' का मुद्दा, कहा- सरकार नहीं चाहती 'भागीदारी' बताना
Photo: IndianNationalCongress FB page
बेंगलूरु में बोले मोदी- कांग्रेस ने टैक्स सिटी को टैंकर सिटी बना दिया
भाजपा के 'न्यू इंडिया' में असहमति की आवाजें खामोश कर दी जाती हैं: प्रियंका वाड्रा
कांग्रेस एक ऐसी बेल, जिसकी अपनी न कोई जड़ और न जमीन है: मोदी
जो वोटबैंक के लालच के कारण रामलला के दर्शन नहीं करते, उन्हें जनता माफ नहीं करेगी: शाह
इंडि गठबंधन वालों को इस चुनाव में लड़ने के लिए उम्मीदवार ही नहीं मिल रहे: मोदी
नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता दस वर्ष बाद भी बरकरार है: विजयेन्द्र येडीयुरप्पा