कांग्रेस ने डॉ. अंबेडकर की उपेक्षा की, योगदान को हमेशा कम आंका: नड्डा

जेपी नड्डा ने आगरा में 'अनुसूचित जाति महासम्मेलन' को संबोधित किया

कांग्रेस ने डॉ. अंबेडकर की उपेक्षा की, योगदान को हमेशा कम आंका: नड्डा

नड्डा ने कहा- पंचतीर्थ की याद कांग्रेस को क्यों नहीं आई?

आगरा/दक्षिण भारत। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के आगरा में पार्टी के अनुसूचित मोर्चा द्वारा आयोजित 'अनुसूचित जाति महासम्मेलन' को संबोधित करते हुए विपक्ष पर खूब हमला बोला। 

नड्डा ने कहा कि लंबे समय तक कांग्रेस पार्टी ने इस देश का शासन चलाया है। उसने अपने शासनकाल में हमारे दलित भाइयों को, अनुसूचित जाति के भाइयों को कभी भी मानवता की दृष्टि से नहीं देखा। जब उन्होंने देखा तो वोटबैंक की राजनीति को ध्यान में रखकर देखा।

नड्डा ने कहा कि भाजपा वैचारिक पार्टी है। जब हम सत्ता में भी नहीं थे, तब भी हमने एकात्म मानववाद की दृष्टि से यह कहा था कि जब तक समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति का भला नहीं होगा, तब तक देश तरक्की नहीं करेगा।

नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ने नहीं, बल्कि भाजपा ने अंत्योदय का कार्यक्रम चलाया। उस समय कांग्रेस बोलती थी कि यह अंत्योदय क्या होता है? उसी समय हमने कहा था कि जब अंत का उदय होगा, तभी भारत का उदय होगा, तभी भारतीय समाज आगे बढ़ेगा।

नड्डा ने कहा कि समाज में दलित, शोषित, वंचित, पीड़ित ...  जिसको लोगों ने वोटबैंक की राजनीति से देखने का उपकरण समझा है, जब तक उसे हम प्रथम पंक्ति में लाकर खड़ा नहीं करेंगे, बराबरी का हाथ नहीं बढ़ाएंगे, तब तक समाज आगे नहीं बढ़ सकता है। यह भाजपा और भारतीय जनसंघ ने कहा था। 

नड्डा ने कहा कि मोदी ने उसी को आगे बढ़ाते हुए कहा - सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास। जब सबकी चिंता होगी, सबके प्रयास से चिंता होगी, जब सबका विश्वास मिल पाएगा, और जब सब लोग मिलकर साथ आएंगे, तभी समाज का विकास होगा।

नड्डा ने कहा कि पंचतीर्थ की याद कांग्रेस को क्यों नहीं आई? संविधान निर्माता बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की कांग्रेस द्वारा उपेक्षा की गई, उनका उपहास किया गया, उनके योगदान को हमेशा कम आंका गया। यही कांग्रेस का चरित्र है, यही कांग्रेस का इतिहास है।

नड्डा ने कहा कि यह इतिहास में दर्ज है कि मुंबई से संविधान सभा के चुनाव में बाबासाहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर को हराया गया था। उन्हें संविधान सभा में आने के लिए बंगाल जाना पड़ा और वे वहां से चुनकर आए थे।

नड्डा ने कहा कि आज मोदी के नेतृत्व में अनुसूचित जाति की दृष्टि से सामाजिक न्याय मंत्रालय का 90 प्रतिशत बजट बढ़ा दिया गया है। अनुसूचित जाति अभ्युदय योजना के तहत 31 हजार गांवों को शामिल किया गया है, जिससे इन गांव में रहने वाले साढ़े 35 लाख लोगों का जीवन सुधर सके।

नड्डा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद वहां अनुसूचित जाति के भाइयों को अब आरक्षण मिल रहा है और वे सरकारी नौकरियों में आ सकते हैं।

Google News

About The Author

Post Comment

Comment List

Advertisement

Latest News