श्रीनगर। आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने मंगलवार को यहां क़डी सुरक्षा वाले एसएमएचएस अस्पताल परिसर में दिनदहा़डे हमला कर एक पाकिस्तानी आतंकवादी को छु़डा लिया। इस दौरान गोलीबारी में दो पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि हमले के बाद आतंकवादी श्रीनगर के व्यस्त इलाके में स्थित संकरी गलियों में फरार हो गए। पुलिस ने कहा कि इस हमले के दौरान वर्ष २०१४ में दक्षिण कश्मीर के कुलगाम से पक़डा गया पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद नवीद हमलावरों के साथ फरार हो गया। वह लश्कर-ए-तैयबा से जु़डा था। आतंकवादियों ने नवीद उर्फ अबु हंजाला के साथ मौजूद पुलिस दल पर काका सराय इलाके में व्यस्त अस्पताल के बाहर फायरिंग की। इस हमले में हेड कांस्टेबल मुश्ताक अहमद और कांस्टेबल बाबर अहमद शहीद हो गए। राज्य के पुलिस महानिदेशक एसपी वैद ने कहा, यह बेहद दुखद घटना है और आतंकवादी अपने एक साथी को फरार करवाने में सफल रहे। हमने इस वारदात में शामिल सभी लोगों को पक़डने के लिए रेड अलर्ट घोषित किया है। एक पुलिसकर्मी की कार्बाइन राइफल भी इस दौरान गुम बताई जा रही है। महाराज हरि सिंह के नाम पर बना यह अस्पताल झेलम की सहायक नदी के किनारे स्थित है। इसके एक तरफ करन नगर है तो दूसरी तरफ नवाब बाजार है। माना जाता है कि पाकिस्तान के मुल्तान जिले के बोरेवेल्ला का रहने वाला नवीद कई आतंकी हमलों में शामिल रहा है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY