मदुरै। अखिल भारतीय अन्ना द्रवि़ड मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) के बागी नेता टीटीवी दिनाकरण ने गुरुवार को अपनी नई पार्टी बना ली। उन्होंने पार्टी का नाम दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के नाम पर अम्मा मक्कल मुन्नेत्र क़षगम रखा गया है। पार्टी के कई असंतुष्ट कार्यकर्ताओं और नेताओं का समर्थन पाने वाले दिनाकरण ने कहा कि यह नई पार्टी राज्य की सत्ता हासिल करेगी। उन्होंने अपनी पार्टी के झंडे का अनावरण भी किया। झंडे के बीच में जयललिता की मुस्कुराती हुई तस्वीर है।झंडा का ऊपरी हिस्सा काला और निचला छोर लाल है और बीच में सफेद रंग है। अपने संक्षिप्त संबोधन में दिनाकरण ने बिना नाम के सांगठनिक कार्य को ब़ढाने में पार्टी कार्यकर्ताओं को हुई परेशानी को याद किया। उन्होंने कहा कि इस मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया गया, जिसने निर्वाचन आयोग को प्रेशर कूकर चिन्ह उन्हें आवंटित करने के निर्देश दिए।दिनाकरण ने पिछले वर्ष दिसंबर में चेन्नई की आरके नगर विधानसभा सीट से प्रेशर कूकर चुनाव चिन्ह से चुनाव ल़डा था और ब़डे अंतर से जीत हासिल की थी। पार्टी मुखपत्र डॉ नामाधू एमजीआर ने बुधवार को दिनाकरण द्वारा शुरु की गई इस नई पार्टी के लिए पार्टी शब्द का इस्तेमाल करने से परहेज किया था और इसकी जगह संगठन शब्द का इस्तेमाल किया था। दिनाकरण ने कहा कि संगठन का नाम, झंडा, चिन्ह अम्मा द्वारा विकसित किए गए अन्नाद्रमुक और दो पत्तियों के चिन्ह को वापस हासिल करने तक जरूरी था। पूर्व मंत्री वी सेंथिल और पी पलनीयप्पन और एस अन्बझगन, जैसे वरिष्ठ नेता तथा अयोग्य ठहराए गए विधायक और दिनाकरण के वफादार नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम में शिरकत की। इनमें पी वेट्रिवल और थंगा तमिल सेल्वन शामिल थे। बैठक में आए नेताओं ने मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी नीत सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि इसमें विश्वासघाती लोग शामिल हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY