• तेलंगाना के जम्मीकुंटा कस्बे में बजाया जाता है राष्ट्रगान
  • 52 सेकेंड तक सावधान की अवस्था में खड़े रहत हैं ग्रामीण

हैदराबाद (जम्मीकुंटा)। हमारे देश में एक ओर जहां देशभक्ति, राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय गान की अनिवार्यता को लेकर बहसें छिड़ी हुई हैं, वहीं हमारे ही देश के एक राज्य में ऐसा गांव है जहां राष्ट्रगान के दौरान लगभग 52 सेकेंड गांव के लोग सम्मान में खड़े होते हैं।

प्राप्त जानकारी अनुसार तेलंगाना राज्य में एक छोटा सा कस्बा है जिसका नाम जम्मीकुंटा है। इस गांव में रोजाना सुबह 8 बजे राष्ट्रगान बजाया जाता है। इस दौरान गांव के लोग राष्ट्रगान की शान में 52 सेकेंड के लिए खड़े रहते हैं। करीमनगर जिले के इस एक छोटे से कस्बे ने देश के सामने देशभक्ति की एक अनूठी मिसाल पेश की है। जबकि दूसरे राज्यों में वंदे मातरम, राष्ट्रगान आदि को लेकर कई बार विवाद की स्थिति भी सामने आई है। ऐसी स्थिति में इस छोटे से कस्बे से अन्य राज्यों को भी सीख लेनी की जरुरत है।

जम्मीकुंटा गांव में रोजाना सुबह 8 बजे लाउडस्पीकरों के जरिए राष्ट्रगान बजाया जाता है और सम्मान में लोग सावधान अवस्था में खड़े हो जाते हैं। हालांकि कई लोग इसे देशभक्ति की भावना को थोपा जाना भी मान रहे हैं। यहां कई लोग राष्ट्रगान के समय न सिर्फ खड़े हो रहे हैं बल्कि सलामी भी देते हैं। गौरतलब है कि इस साल 15 अगस्त से रोजाना सुबह 8 बजे कस्बे में लगाए गए 16 लाउडस्पीकरों के जरिए राष्ट्रगान बजाया जाता है और लोग राष्ट्रगान और राष्ट्र के सम्मान में 52 सेकेंड के लिए सावधान अवस्था में खड़े हो जाते हैं।

LEAVE A REPLY