pm modi in kedarnath
pm modi in kedarnath

केदारनाथ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिवाली के अवसर पर बुधवार को केदारनाथ धाम पहुंचे और भगवान की पूजा-अर्चना की। उन्होंने भगवान का जलाभिषेक किया और पूजा करने के बाद परिक्रमा की। उन्होंने घाटी में पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर केदारनाथ धाम में विशेष सजावट की गई है। इन दिनों बर्फबारी के बाद यहां का दृश्य और भी सुंदर हो गया है।

केदारनाथ धाम का एक वीडियो सोशल मीडिया में आया है जिसमें प्रधानमंत्री मोदी पूजा करने के बाद परिक्रमा करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने चित्रों की एक प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी वहीं मौजूद थे। प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर स्थानीय लोगों में खासा उत्साह दिखाई दिया। बता दें कि मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद तीसरी बार केदारनाथ धाम आए हैं। वे वर्ष 2017 में दो बार (मई और अक्टूबर) केदारनाथ धाम आकर भगवान की पूजा-अर्चना कर चुके हैं।

स्थानीय लोगों में उत्साह
बुधवार सुबह करीब 10 बजे उनका हेलिकॉप्टर यहां पहुंचा था। इस मौके पर स्थानीय लोग भी प्रधानमंत्री की एक झलक पाने को बेताब थे। मोदी ने हाथ हिलाकर उनका अभिवादन किया। आज रात को केदारनाथ धाम में दिवाली का दृश्य अद्भुत होगा। धाम को 5,000 दीयों से सजाया जाएगा।

वर्ष 2013 में यहां आई आपदा के बाद धाम में फिर से पुनर्निर्माण शुरू किया गया। हालांकि उस तबाही के दौरान भी मंदिर सुरक्षित रहा, परंतु जान-माल का काफी नुकसान हुआ। यहां पुनर्निर्माण से केदारनाथ धाम एक बार फिर आबाद हो गया है। आज रात को जब यह दीयों से जगमगाएगा तो यहां अलौकिक दृश्य उपस्थित हो जाएगा।

जवानों के शौर्य की सराहना
केदारनाथ धाम में दर्शन-पूजन से पहले मोदी हर्षिल पहुंचे, जो भारत-चीन सीमा के पास स्थित है। यहां उन्होंने सशस्त्र बल के जवानों और अधिकारियों से मुलाकात की। प्रधानमंत्री के साथ थल सेना प्रमुख बिपिन रावत भी मौजूद थे। मोदी ने जवानों के साथ तस्वीरें खिंचाईं और उन्हें मिठाई खिलाई। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने जवानों के साहस और देश के लिए उनकी सेवाओं की सराहना की।

मोदी ने कहा कि बर्फीली चोटियों पर कर्तव्य के प्रति आपका समर्पण भाव पूरे देश को ताकत देता है और यह 125 करोड़ भारतीयों के सपनों और भविष्य को सुरक्षित कर रहा है। उन्होंने वन रैंक, वन पेंशन और पूर्व सैनिकों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का उल्लेख किया। मोदी ने सशस्त्र बलों की संयुक्त राष्ट्र शांति मिशन में भूमिका को भी सराहनीय बताया।

LEAVE A REPLY